FIN-INFO

PERSONAL LOAN | HOME LOAN | BUSINESS LOAN | CREDIT SCORE | CREDIT CARD | ALL INFO IN HINDI

शुक्रवार, 4 अक्तूबर 2019

HOME LOAN INTEREST RATE कम करने का आसान तरीका

HOME LOAN INTEREST RATE कम करने का आसान तरीका 

housing loan interest rate,home loan interest rate,housing loan interest,lowest home loan interest rate


HOME LOAN INTEREST RATE अगर ज्यादा होता हैं तो स्वाभाविक हैं की हम पर कर्ज का बोझ ज्यादा होगा ! ऐसे में लम्बे समय तक चलने वाले housing loan के housing loan interest को कम करने का कोई तरिका हैं? अगर यहाँ ये कहा जाए की home loan interest rate कम करना आप पर निर्भर करता हैं तो ये बिलकुल सही होगा ! दोस्तों आज के समय में जहा एक और home loan आसानी से मिलता हैं तो वही इसके home loan interest rate को भी कम करने के अनेक रास्ते हैं लेकिन इन home loan interest rate कम करने के टिप्स को आप ही को फोलो करना होगा ! क्योकि जब तक आप home loan interest rate कम करने का सही कदम नहीं उठाते तब तक आपको अपने होम लोन पर हमेशा होम लोन का ब्याज ज्यादा ही चुकाना पडेगा ! आज के इस लेख में आपको कुछ आसान टिप्स अपने home loan interest rate को कम करने के लिए बताने जा रहे हैं ! अगर आप इन टिप्स को फोलो करते हैं तो आपके होम लोन के ब्याज में तेजी से कमी आएगी जिससे आपको आर्थिक रूप से बचत हो सकती हैं !

HOME LOAN के लिए सही बैंक का चुनाव

HOME LOAN INTEREST RATE पूरी तरीके से बैंक और हाउसिंग फाइनेंस कम्पनियों पर निर्भर करता हैं तो यदि आपका बैंक या फाइनेंस कम्पनी चुनाव सही होगा तो आपको कम ब्याज दर पर होम लोन मिल सकता हैं ! इसलिए जब भी होम लोन लेने के बारे में सोचे तो उससे पहले हाउसिंग फाइनेंस कम्पनी या बैंक के होम लोन ब्याज के बारे में जरुर पता कर ले वेसे आज के समय में इन्टरनेट के माध्यम से ये पता किया जा सकता हैं की कौनसी बैंक या हाउसिंग फाइनेंस कम्पनी कितने ब्याज पर होम लोन दे रही हैं फिर भी आपकी जानकारी के लिए यहाँ एक लिस्ट हमने बनायी हैं जिसको देखकर आप ये पता कर सकते हैं की आपको कौनसी बैंक या फाइनेंस कम्पनी में होम लोन पर कितना ब्याज लगेगा ?

CHECK HOME LOAN INTEREST RATE LIST

housing loan interest rate,home loan interest rate,housing loan interest,lowest home loan interest rate, best home loan rates

होम लोन लेने पर ज्यादा डाउनपेमेंट

HOME LOAN INTEREST RATE को कम करने का दुसरा तरिका हैं ज्यादा डाउनपेमेंट ! दोस्तों घर खरीदने या बनाने में बहुत ज्यादा पैसो की जरुरत पड़ती हैं ऐसे में आप होम लोन के माध्यम से घर खरीदने का सोचते हैं ! लेकिन यहाँ अगर आप इस बात का ध्यान रखे की ज्यादा होम लोन राशी लेना आप पर ज्यादा ब्याज का बोझ डाल सकती हैं तो इसलिए जब भी आप होम लोन लेने का मन बनाए तो उससे पहले ज्यादा डाउनपेमेंट राशि का अरेंजमेंट जरुर करे इससे आपको कम होम लोन लेने की जरुरत पड़ेगी और कम होम लोन पे आपको कम होम लोन की कम ब्याज दर चुकाना पड़ेगी !

Useful Links :
housing loan interest rate,home loan interest rate,housing loan interest,lowest home loan interest rate, best home loan rates

होम लोन के ब्याज पर मोल भाव

HOME LOAN INTEREST RATE कम करने का तीसरा तरिका हैं होम लोन के ब्याज का मोलभाव करना ! बहुत से लोगो को ये पता ही नहीं होगा की बैंक या हाउसिंग फाइनेंस  कम्पनियों से जो होम लोन ब्याज ऑफर किया जाता हैं उसपे मोलभाव किया जाना भी संभव हैं ! यदि आप होम लोन लेते समय होम लोन के ब्याज को लकर बैंक या फाइनेंस कम्पनी से मोलभाव करते हैं तो हो सकता हैं आपको कुछ ब्याज में राहत मिल जाये और ऐसा करने से आपको लिए जा रहे होम लोन पर कम ब्याज चुकाना पड़े !

आवश्यकता अनुसार होम लोन

HOME LOAN INTEREST RATE को कम करने का चौथा तरिका हैं आवश्यकता अनुसार लोन लेना ! कई बार बहुत से लोग ज्यादा लोन राशि लेने का निर्णय ले लेते हैं जो की बिलकुल गलत हैं हो सकता हैं आपको फर्निशिंग या घर के अन्य कामो जैसे फर्नीचर खरीदना या कोई उधारी चुकाना हेतु कुछ पैसो की जरुरत हो ऐसे में यदि आप ज्यादा होम लोन लेते हैं तो आपको ज्यादा HOME LOAN INTEREST RATE चुकाना पड़ सकता हैं ! ऐसे सभी काम जिनको आगे पूरा किया जा सकता हैं उसके लिए लोन एक मात्र सहारा नहीं होना चाहिये ! ज्यादा होम लोन न केवल आपको ब्याज और कर्ज के बोझ में फसा सकता हैं बल्कि आपकी सम्पत्ति को भी असुरक्षित कर सकता हैं ! इसलिए होम लोन उतना ही ले जितने कम में आपकी जरुरत पूरी हो !
housing loan interest rate,home loan interest rate,housing loan interest,lowest home loan interest rate, best home loan rates

होम लोन पे टॉप-अप

कई बार बैंक या फाइनेंस कम्पनिया आपके अच्छे री-पेमेंट को देखते हुए आपको चल रहे होम लोन पर टॉप-अप अमाउंट का ऑफर करती हैं ! और आप ज्यादा राशि पाने के लालच में टॉप-अप ले लेते हैं यहाँ आपको सजेशन हैं की ऐसा बिलकुल भी न करे ! ज्यादातर मामलो में टॉप-अप लोन की ब्याज दर सामान्य होम लोन ब्याज दर से ज्यादा होती हैं और कई हाउसिंग फाइनेंस कम्पनी या बैंक पुराना लोन फिर से री-स्ट्रक्चर करके नया लोन तेयार करती हैं ऐसे में आपको ज्यादा अपने पुराने लोन को भी नए ब्याज यानी बड़े हुए ब्याज पर चलाना पड़ता हैं ! तो जब तक बहुत आवश्यक न हो HOME LOAN TOP-UP न ले !

होम लोन पार्ट पेमेंट

HOME LOAN INTEREST RATE को कम करने का एक और असरदार तरिका हैं होम लोन पार्ट पेमेंट ! दोस्तों चल रहे होम लोन पर समय समय पर यदि आप थोड़ी थोड़ी राशि का अतिरिक्त भुगतान करते रहेंगे तो निश्चित ही आपका लोन तेजी से ख़त्म होगा ! पार्ट पेमेंट करने के बाद पार्ट पेमेंट की राशि मूलधन में जमा की जाती हैं और बचे हुए लोन पर ब्याज लगता हैं ऐसे में आपको आने वाले समय में अपनी कम मूलधन की राशि पर कम ब्याज चुकाना पडेगा !
housing loan interest rate,home loan interest rate,housing loan interest,lowest home loan interest rate, best home loan rates

होम लोन की लम्बी अवधि और कम अवधि

HOME LOAN INTEREST RATE को कम करने में होम लोन अवधि का भी बहुत महत्व होता हैं ! अगर आप लम्बी अवधि का चुनाव करते हैं तो आपको किफायती किश्त आएगी लेकिन आपको ब्याज लम्बे समय के लिए ज्यादा चुकाना होगा दूसरी और कम अवधि के होम लोन पर आपको थोड़ी किश्त बड़ी हुई भुगतान करना होगी लेकिन कम समय में आपको ब्याज भी कम जमा करना होगा ! यहाँ आपको आपकी सुविधा और क्षमता के अनुरूप होम लोन अवधि  का चुनाव करना चाहिये ! यदि आप लम्बी अवधि के लोन पर कम किश्तों का भुगतान करने में सक्षम हैं तो आपको लम्बी अवधि ही रखना अच्छा होगा लेकिन आप ज्यादा राशि किश्त के रूप में चुकाने में सक्षम हैं तो आपको कम अवधि रखना ठीक होगा ! ऐसे में आप अपने ब्याज की मोटी रकम को बचा सकते हैं !

होम लोन प्री-पेमेंट

HOME LOAN INTEREST RATE से छुटकारा पाने का तरिका हैं होम लोन प्री-पेमेंट ! दोस्तों कई बार हमारे पास एक मुश्त पैसों का अरेंजमेंट होता हैं जैसे कोई बोनस,कोई प्रॉपर्टी बिकने का पैसा या सेविंग का पैसा ! अगर आपके पास भी एक मुश्त ऐसी राशि आती हैं तो आपको बिना देर किये होम लोन का प्री-पेमेंट करना चाहिये क्योकि ऐसा करने से आप होम लोन पर लगने वाले ब्याज से मुक्त हो सकते हैं !

HOME LOAN INTEREST RATE को कम करने के इन टिप्स में से आपको जो भी सहज लगे आप उसे फोलो कर सकते हैं वेसे लोन कोई भी हो उसपे ब्याज लगना निश्चित हैं ! ऐसे में समझदारी भरे निर्णय लेना आपके हाथ में हैं की उस ब्याज को कैसे कम किया जाये ! होम लोन  पर जहा ब्याज का बोझ हैं वही इससे फायदे भी हैं उन फायदों को भी नजर अंदाज नहीं किया जा सकता हैं उसमे सबसे बड़ा फायदा हैं इनकमटेक्स का बेनेफिट यदि आप इन फायदों को ध्यान में रखकर बताये गए टिप्स फोलो करते हैं तो आप मोटी रकम ब्याज के रूप में बचा सकते हैं ! जिससे आपको आर्थिक मजबूत प्राप्त होगी !

HOME LOAN INTEREST RATE के टिप्स आपको कैसे लगे उसे बताने के लिए आप कमेंट्स कर सकते हैं साथ ही लोन और फाइनेंस को लेकर आपके मन में कोई सवाल हैं तो वो भी आप बता सकते हैं ! आपके दोस्तों या रिश्तेदारों को इन टिप्स को शेयर करके आप उनकी मदद कर सकते हैं ! हमारे साथ बने रहने के लिए धन्यवाद !

क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये | How to Improve Credit Score In HINDI

क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये | How to Improve Credit Score In HINDI

क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये, क्रेडिट स्कोर को कैसे बढ़ाये, how to improve credit score in hindi, how to improve credit score, how to improve cibil score, how to improve credit score india, how to improve credit score fast


आज आपको घर लेना हो या कोई गाडी, कोई महंगा मोबाइल लेना हो या कोई महंगी यात्रा पे जाना हो लगभग ऐसे हर काम जिसमे आपको ज्यादा पैसा लगता हैं उसके खर्चो को आसान करने के लिए आज हर तरह का लोन मौजूद हैं ! लेकिन इस बढ़ते हुए लोन की उपलब्धता के बिच सबसे महत्वपूर्ण हैं क्रेडिट स्कोर  ! आज क्रेडिट स्कोर का महत्व बहुत ज्यादा बढ़ चुका हैं आज लोन की हर शर्त जैसे उसका ब्याज,उसकी राशि,लोन की सिक्युरिटी आदि सभी आपके अच्छे क्रेडिट स्कोर पर निर्भर करती हैं ! ये आपका अच्छा क्रेडिट स्कोर ही हैं जो निर्धारित करता हैं की आपको लोन मिलेगा या नहीं और मिलेगा तो कितना ब्याज आपको देना पड़ेगा और यदि आपका खराब क्रेडिट स्कोर  हैं तो हो सकता हैं आपको ज्यादा ब्याज देना पड़े या ये भी हो सकता हैं की आपको लोन न मिले ! असल में कहा जाए तो लोन मिलने से लेकर उसकी सभी शर्ते आपके अच्छे क्रेडिट स्कोर  पर निर्भर करती हैं ! 

आपकी जानकारी के लिए बता दे की क्रेडिट स्कोर 300 से लेकर 900 के बिच होता हैं  तीन अंको के इस स्कोर में जिनका 750 पॉइंट से स्कोर ज्यादा होता हैं वो अच्छा क्रेडिट स्कोर माना जाता हैं और जिनका इससे कम होता हैं उनका खराब क्रेडिट स्कोर  माना जाता हैं !

अच्छे क्रेडिट स्कोर और खराब क्रेडिट स्कोर के बिच उतना ही बुनियादी अंतर होता हैं जितना इन दोनों शब्दों यानी अच्छे और बुरे में होता हैं ! एक अच्छा क्रेडिट स्कोर जहा आपको आसानी से लोन उपलब्ध करा सकता हैं वही खराब क्रेडिट स्कोर के चलते आपको लोन मिलने में समस्या आ सकती हैं तो ऐसे कौनसे टिप्स हैं जिनकी मदद से आप अपना खराब क्रेडिट स्कोर सुधार सकते हैं ! या वो टिप्स जिससे आप आपका क्रेडिट स्कोर मजबूत बनाए रख सकते हैं !


क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये, क्रेडिट स्कोर को कैसे बढ़ाये, how to improve credit score in hindi, how to improve credit score, how to improve cibil score, how to improve credit score india, how to improve credit score fast

फिक्स इनकम ऑब्लिगेशन 


हर व्यक्ति के अपने अपने महीने के फिक्स खर्चे होते हैं जिनसे वो घर चलता हैं, और लोन आपकी इनकम में से खर्चे घटा के बचने वाली आय पर निर्धारित होता हैं ! इन फिक्स खर्चो को लोन लेने के लिए 50% माना जता हैं ! इसको आसानी से समझा जाए तो यदि आपकी इनकम 20 हजार रूपये हैं तो आप केवल 10 हजार तक की ही किश्त का भुगतान कर सकते हैं ! क्रेडिट स्कोर सुधार करने के लिए  ध्यान रखे की कभी भी अपने फिक्स इनकम के ऑब्लिगेशन को घटाकर जितनी राशि बनती हैं उससे ज्यादा की किश्त न बनवाये ! इससे आपको आर्थिक स्थिति के संतुलन में परेशानी आएगी और आपकी लोन की किश्त मिस होगी और इसका असर आपके क्रेडिट स्कोर  पर पड़ेगा !

यह भी पढ़े -  पुराना Loan चुका देने के बाद भी Loan नहीं मिल पा रहा? जानिये क्यों?

भुगतान की तारीख 

खराब क्रेडिट स्कोर को बेहतर बनाने के लिए हमेशा याद रखे की आपके जो भी लोन चल रहे हैं या जो भी क्रेडिट कार्ड के भुगतान आप करते हैं उनकी भुगतान तारीख आपको हमेशा याद होना चाहिये और साथ ही उन तारीख पर आपको कभी भी लोन की किश्तों का या क्रेडिट कार्ड के बिल्स का भुगतान चूकना नहीं चाहिये ! अगर आप हमेशा या बार बार भुगतान की तारीखों पर किश्तों या बिलों का भुगतान नहीं करते तो आपका क्रेडिट स्कोर खराब होता चला जाता हैं ! अगर आप अभी तक इसी पद्धति से किश्तों या बिलों का भुगतान कर रहे हैं तो अभी से इसमें सुधार कर ले ! निश्चित मानिए की धीरे धीरे आपका क्रेडिट स्कोर सुधरने लगेगा  संभव हैं की 8 महीनो से लगाकर 1 साल में आपके क्रेडिट स्कोर में सुधार  हो जाएगा !


लोन का सेटेलमेंट 

आपके क्रेडिट स्कोए में सभी बातो का उल्लेख होता हैं मसलन आपने कितने लोन लिए हैं उन लोन का आपने कैसे भुगतान किया हैं साथ ही इस बात का भी उल्लेख होता हैं की आपने किसी लोन को पूरी तरीके से बंद किया हैं या उसका सेटेलमेंट किया हैं ! ऐसे में यदि आपने पिछले कुछ लोन का सिर्फ सेटेलमेंट किया हैं तो नया लोन मिलने में आपको समस्या आ सकती हैं क्योकि सेतेलेमेंट को बैंक और फाइनेंस कम्पनी ठीक नहीं मानती हैं इसलिए आप यदि किसी लोन को बंद करना चाह रहे हैं तो उसके सम्पूर्ण बकाया को ख़त्म करे न की लोन सेटेलमेंट  करके उस लोन को ख़त्म किया जाये ! क्योकि सेटेलमेंट किये गए लोन आपकी क्रेडिट रिपोर्ट में सेटेलमेंट फ्लेग  ही करेगा वो क्लोज स्टेट्स में नहीं होगा ! तो अगर आप कोई लोन बंद करना चाह रहे हैं तो उसे पूरी तरह से बंद करे बजाये सेटेलमेंट करने के इससे आपके क्रेडिट स्कोर को सुधारने में  सहायता मिलेगी ! 

क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये, क्रेडिट स्कोर को कैसे बढ़ाये, how to improve credit score in hindi, how to improve credit score, how to improve cibil score, how to improve credit score india, how to improve credit score fast

क्रेडिट रिपोर्ट की गलतियों का ध्यान 


बहुत से लोगो की मेरे पास क्वेरी आती हैं की कोई लोन हमने नहीं लिया फिर भी वो हमारी क्रेडिट रिपोर्ट में दिख रहा हैं  और उस लोन के अनियमित भुगतान के कारण हमारा क्रेडिट स्कोर खराब हो गया हैं ! इसे रिपोर्ट में वेरिएशन कहा जता हैं ! इसलिए आपको चाहिये की आप समय समय पे अपनी क्रेडिट रिपोर्ट चेक करते रहे और किसी प्रकार की गलती पायी जाने पर उसका क्रेडिट ब्यूरो को सिबिल डिस्प्यूट  भेजे ! अगर अनचाहे लोन की वजह से आपका क्रेडिट स्कोर खराब हो रहा हैं  तो याद रखे एक बार क्रेडिट स्कोर के खराब हो जाने पर  उसमे सुधार कर पाना आपके लिए मुश्किल हो सकता हैं ! 

उपयोगी लिंक 

क्रेडिट लिमिट का उपयोग 

खराब क्रेडिट स्कोर का सबसे बड़ा कारण हैं की असंतुलित तरीके से क्रेडिट कार्ड लिमिट का उपयोग किया जाना ! दोस्तों हर क्रेडिट कार्ड पर हमें एक लिमिट दी जाती हैं उस लिमिट का हम कितना उपयोग करे हैं उसपे भी ये निर्धारित होता हैं की आपका क्रेडिट स्कोर बिगड़ेगा  या सुधरेगा ! अगर आप महीने में अपनी क्रेडिट लिमिट का सिर्फ 40% तक का उपयोग करते हैं तो ये आपके क्रेडिट स्कोर के लिए अच्छा होता हैं ! उदाहरण के लिए समझे की अगर आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट 10000 रूपये हैं और आप 4000 रूपये से ज्यादा हर महीने यूज करते हैं तो ये खराब क्रेडिट स्कोर का संकेत हैं इससे आपका क्रेडिट स्कोर बिगड़ता चला जाएगा इसलिए इस आदत को जल्द से जल्द सुधारे और अपने क्रेडिट कार्ड के खर्चो को संतुलित करे ! 


क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये, क्रेडिट स्कोर को कैसे बढ़ाये, how to improve credit score in hindi, how to improve credit score, how to improve cibil score, how to improve credit score india, how to improve credit score fast

शून्य क्रेडिट हिस्ट्री 

कई लोगो ने पहले कभी भी लोन नहीं लिया होता हैं ऐसे में उन लोगो की धारणा होती हैं की उनको आसानी से लोन मिल सकता हैं लेकिन यहाँ ध्यान रखे यदि आपका क्रेडिट स्कोर शून्य हैं  तो आपको लोन मिलने में समस्या आसक्ति हैं ! शून्य क्रेडिट स्कोर या मायनस क्रेडिट स्कोर का मतलब  ये हैं की बैंक इस असमंजस में हैं की आपको लोन देना सही हैं या नहीं ! तो ऐसे में तभी लोन संभव होता हैं जब आपकी आय का स्थायी सोर्स मौझुद हो इसके अलावा यदि लोन स्कयोर हैं तो भी आपको लोन मिलने के चांसेस हो सकते हैं ! तो ध्यान रखे कोशिश करे की आपका कोई लोन या क्रेडिट कार्ड हमेशा चलता रहे भले ही आप उसका सिमित उपयोग करते हो लेकिन ऐसा करने से आपके क्रेडिट स्कोर में सुधार होता हैं !

क्रेडिट लिमिट इनक्रीज करवाना 

कई बार देखने में आता हैं की लोग बार बार अपने क्रेडिट कार्ड की लिमिट को इनक्रीज करते रहते हैं इससे उनके क्रेडिट कार्ड के संचालन की अनियमितता देखने को मिलती हैं ! ऐसा करने से जहा एक और आपके ऊपर क्रेडिट लिमिट का बोझ बढेगा वही आपको ये भी ध्यान रखना होगा की बढ़ी हुई लिमिट के भुगतान की जवाबदारी भी आप ही की होती हैं ऐसे में यदि ज्यादा क्रेडिट लिमिट होगी तो खर्चे भी ज्यादा होंगे और उन खर्चो के भुगतान का भार भी ज्यादा ऐसा होने पे संभव हैं की आप किसी महीने क्रेडिट ड्यू का भुगतान न कर पाए और ऐसा करने पे आपका क्रेडिट स्कोर खराब हो जाये !


क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये, क्रेडिट स्कोर को कैसे बढ़ाये, how to improve credit score in hindi, how to improve credit score, how to improve cibil score, how to improve credit score india, how to improve credit score fast



लोन आवेदन करते समय 

किसी भी तरह का लोन आवेदन करते समय अपना क्रेडिट स्कोर चेक जरुर करे ताकि आपको ये ध्यान रहे की आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा हैं या आपका क्रेडिट स्कोर खराब हैं ! अच्छे क्रेडिट स्कोर की मदद  से आप बैंक से कम ब्याज दर, सिक्युरिटी आदि मुद्दों के साथ ही साथ प्रक्रिया शुल्क में रियायत पा सकते हैं !


तो दोस्तों ये थी जानकारी खराब क्रेडिट स्कोर को कैसे सुधारे  से सम्बंधित ! यदि आपका भी क्रेडिट स्कोर बिगड़ा हुआ हैं  तो आप इस जानकारी की मदद से और इन टिप्स को फोलो करके अपने बिगड़े क्रेडिट स्कोर को सुधार सकते हैं ! दोस्तों हो सकता हैं आपके किसी दोस्त या रिश्तेदार का भी सिबिल या क्रेडिट स्कोर बिगड़ा हुआ हो तो इन टिप्स को उन्हें व्हाट्सएप करके शेयर कर दीजिये जिनसे उनके भी क्रेडिट स्कोर सुधरने के चांसेस बढ़ जाये ! इसके अलावा यदि खराब क्रेडिट स्कोर को सुधारने को लेकर  आपके मन में कोई भी सवाल हैं तो हमें कमेंट्स करे ! उम्मीद करता हूँ आपको ये जानकारी जरुर पसंद आयी होगी और अगर हाँ तो ब्लॉग को लाइक और सबस्क्राइब जरुर करे क्योकि ऐसे ही आर्टिकल मैं आपके लिए लाता रहता हूँ ! हमारे साथ बने रहने के लिए धन्यवाद 

Credit Card Mistake: सावधान Credit Card की ये 6 गलतिया भारी पड़ सकती हैं !

Credit Card Mistake: सावधान Credit Card की ये 6 गलतिया भारी पड़ सकती हैं !

Credit card mistake in hindi,how to use credit card in hindi,how use credit card,credit card use tips,credit card usage
Credit Card Mistake: सावधान Credit Card की ये 6 गलतिया भारी पड़ सकती हैं !
Credit Card Mistake आज की नहीं जाती हो जाती हैं, आज लगभग हर व्यक्ति के पास Credit Card मौजूद हैं ! इसका उपयोग अचानक तंगी आने पर या कभी कभी पैसो की कमी के कारण भी किया जा सकता हैं. लेकिन कई लोग बिना सोचे समझे Credit Card का उपयोग शुरू कर देते हैं तथा बाद में उन्हें बहुत ज्यादा पछतावा होता हैं ! आज हम ऐसी 6 गलतियों की बात करेने जा रहे हैं जो हर Credit Card Holder को ध्यान में रखना जरुरी हैं ! क्योकि इन गलतियों के बढ़ने से आप बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं तो चलिए जानते हैं वो कौन कौन सी गलतिया हैं जो एक Credit Card holder को भूलके भी नहि करना चाहिये !

Credit card mistake in hindi,how to use credit card in hindi,how use credit card,credit card use tips,credit card usage

Credit Card Details दुसरो को बताना 

Credit Card Mistake की पहली गलती ये हैं की कई बार हम अपने नोकर को या घरवालो को Credit Card Use करने देते हैं ऐसे में उन्हें उन सभी जानकारियों का पता लग जाता हैं जो हमेशा सीक्रेट रखना होती हैं ! इससे भी बड़ी गलती कुछ लोग तब कर देते हैं जब किसी बोगस कंपनी का हमारे पास फोन आता हैं और एक लालच देकर हमसे हमारी Credit Card Details मांगता हैं और हम लालच में आकर ऐसा कर भी देते हैं हमारे कार्ड की डिटेल पाकर एक बड़ा Credit Card Fraud किया जा सकता हैं ! इसलिए बेहतर हैं की कभी भी किसी व्यक्ति को Credit Card Details कभी भी न दे! 


Credit card mistake in hindi,how to use credit card in hindi,how use credit card,credit card use tips,credit card usage

टाइमली भुगतान न करना 

कोई भी Bank या Credit Card Company समय से Credit Card Due न चुकाए जाने को बर्दाश्त नहीं करती वो आपको हर तरह से सूचित करती हैं की आप समय से Credit Card Bills का भुगतान करते रहे ! ऐसे में यदि आप उन सूचनाओं को नजरअंदाज करते रहंगे तो सभव हैं की आपको भारी भरकम Credit Card Penalty और Credit Card Interest चुकाना पड़ सकता हैं ! इस Late Payment से न केवल आपको पेनेल्टी और ब्याज का ही बोझ उठाना पड़ता हैं बल्कि इससे आपके Credit Score पर भी बहुत ज्यादा नकारात्मक असर पड़ता हैं और ये सभी को पता हैं की खराब क्रेडिट स्कोर से आपको भविष्य में लोन मिलना लगभग मुश्किल हो जता हैं तो आपको हमेशा बैंक या Credit Card द्वारा निर्धारित तय ड्यू डेट को अपने हर Credit Card के ड्यू का भुगतान बिना चुके करना चाहिये! जिससे आपको न तो किसी प्रकार की पेनेल्टी या अतिरिक्त ब्याज देना पड़े और न ही आपका क्रेडिट स्कोर बिगड़े!


Credit card mistake in hindi,how to use credit card in hindi,how use credit card,credit card use tips,credit card usage

मिनिमम ड्यू बेलेंस का भुगतान करना 

Credit Card का उपयोग आपकी क्रेडिबिलिटी बनाता हैं ऐसे में अगर आप हमेशा Credit Card Minimum Due  का भी भुगतान करे हैं तो इससे आपको बचना चाहिये ! विशेषकर Credit Card जारी करने वाली कम्पनी या बैंक ये चाहती हैं की आप अपने Credit Card की ड्यू सायकिल को हमेशा सही रखे न केवल आप मिनिमम ड्यू का भुगतान करते रहे ! ऐसा करना एक और आपकी क्रेडिट चुकाने की क्षमता पर सवाल उठाता हैं वही ऐसा करने पर आपको 4 से 5 % अतिरिक्त ब्याज भी चुकाना पड़ता हैं यह 4-5% ब्याज महीने का होता हैं अगर इसे जोड़ा जाए तो ये एक बड़ी राशि होता हैं ! अगर ये स्थिति लगातार बनी रहती हैं तो ये मान के चलिए की आप धीरे धीरे कर्ज के बोझ में डूबते चले जा रहे हैं और अपने Credit Card के खर्चो को नियंत्रित करके आप इस जंजाल से बच सकते हैं ! 


Credit card mistake in hindi,how to use credit card in hindi,how use credit card,credit card use tips,credit card usage

Credit Card से नगद आहरण 

ऐसा नहीं है की आप Credit Card से नगद नहीं निकाल सकते लेकिन ध्यान रखे की हर बैंक और Credit Card जारी करने वाली फाइनेंस कम्पनियों की कुछ लिमिटेशन होती हैं जिसे आपको फोलो करना होता हैं ! केश निकालने के अनेक नियम Credit Card पर लागू होते हैं उनमे से केश एडवांस चार्जेस,फिक्स चार्जेस,ब्याज आदि हो सकते हैं लेकिन सबसे भारी भरकम होता हैं नगद निकालने पे लगने वाला ब्याज ! अक्सर Credit Card से नगद निकालने पे आपको 2 से 4 प्रतिशत तक का मासिक ब्याज चुकाना पड़ सकता हैं और ये ब्याज अन्य लोन के मामले में कही ज्यादा होता हैं ! अगर आप Credit Card से नगद निकालते हैं तो आप एक महंगे ब्याज पर पैसा उठा रहे हैं इससे हमेशा बचे रहना जरुरी हैं यहाँ तक की छोटे मोटे अमाउंट भी आपको Credit Card से नहीं निकालने चाहिये. 

आवश्यक लिंक -

    लिमिट का सही उपयोग 

    अक्सर कई लोग Credit Card limit का सही उपयोग नहीं करते ! या तो वो लोग Credit Card की लिमिट का 10% से भी कम उपयोग करते हैं या 100% उपयोग कर लेते हैं दोनों ही तरीके बिलकुल गलत हैं दोनों ही स्थिति में आपके क्रेडिट स्कोर पर बड़ा गंदा असर पड़ता हैं ! अगर आप कम उपयोग करते हैं तो भी और ज्यादा करते हैं तो भी ! ऐसे में आपको एक कार्ड की बजाये अलग अलग Credit Card रखकर प्रतेक कार्ड से ज्यादा से ज्यादा 25% तक लिमिट का स्तेमाल करना चाहिये इससे आपका क्रेडिट स्कोर तेजी से सुधरेगा ! 


    रिवार्ड पॉइंट का लालच 

    कई लोग तो अपने Credit Card से खरीदारी इसलिए करते हैं की उन्हें Credit Card कम्पनी से या बैंक से रिवार्ड पॉइंट मिलते हैं ! यहाँ आपको यदि नहीं पता के Credit Card रिवॉर्ड पॉइंट क्या होते हैं तो आप हमें कमेट्स करके पूछ सकते हैं अगर आपके ज्यादा कमेंट्स आये तो में इसपे एक पूरा आर्टिकल लिखने की कोशिश करूँगा ! तो रिवार्ड पॉइंट कमाने के चक्कर में कुछ लोग अपना हर ट्रांजेक्शन Credit Card से ही करते रहते हैं ऐसे में ये स्पस्ट दिखता हैं की वे खर्च करने में कितने लापरवाह हैं अगर आपके पास भी Credit Card हैं तो आप ऐसा बिलकुल न करे बड़े हुए Credit Card के बोझ को आप ज्यादा दिन सम्भाल नहीं पायेंगे! 


    Credit card mistake in hindi,how to use credit card in hindi,how use credit card,credit card use tips,credit card usage


    Credit Card स्वीच 

    बहुत से लोगो के पास बहुत से Credit Card होते हैं ऐसे में एक Credit Card के बिल का भुगतान वे दुसरे कार्ड से करते हैं इसे Credit Card स्वीच करना कहते हैं ऐसे में यदि आप एक कार्ड के बाकया बेलेंस को दुसरे कार्ड से करते हैं तो एक कार्ड की आपकी लिमिट भले ही बढ़ जाती हैं लेकिन दुसरे कार्ड की लिमिट बढ़ जाती हैं जिसका असर आपके क्रेडिट स्कोर पर साफ़ दिखाई देता हैं इसलिए आप जब भी एक से ज्यादा कार्ड रखे तो ये सुनिचित करे की सभी का उपयोग आप संतुलित रूप से कर रहे हैं! 


    तो दोस्तों ये थी जानकारी उन गलतियों की जिसको बहुत से Credit Card होल्डर करते हैं और बड़ी मुसीबत में फसते हैं ! अगर आप भी ऐसी ही गलती करते हैं तो अभी बंद कर दीजिये ! अपने किसी दोस्तों या रिश्तेदार जो Credit Card का उपयोग करते हैं उन्हें ये आर्टिकल व्हाट्सएप करे ताकि वो भी ऐसी गलती न करे ! ब्लॉग अच्छा लगा हो तो लाइक करे ! अगर आपके मन में लोन और फाइनेंस को लेकर कोई भी प्रश्न हैं तो निचे कमेंट्स करके जरुर पूछे !
    अगली बार ऐसी ही जानकारी के साथ फिर से मुलाकात होगी ! धन्यवाद 

    गुरुवार, 3 अक्तूबर 2019

    SBI FESTIVAL LOAN : 2019 के त्योहारों के सीजन में आसानी से लोन

    sbi staff festival advance,hdfc festival loan,sbi saral scheme,sbi personal loan saral scheme,sbi pension loan,festival advance in banks,sbi home loan festival offer 2019
    SBI FESTIVAL LOAN : 2019 के त्योहारों के सीजन में आसानी से लोन 
    SBI FESTIVAL LOAN : 2019 के त्योहारों के सीजन में आसानी से लोन 

    SBI FESTIVAL LOAN के बारे में आज बहुत ही कम लोग जानते हैं. लेकिन अभी जब की इंडिया में त्योहारों का सीजन नजदीक हैं ! ऐसे में लगभग हर परिवार को अपने घर के लिए या अपने खुद के लिए या ये भी हो सकता हैं अपने किसी प्रिय रिश्तेदार के लिए ऐसी कोई चीज खरीदने की जरुरत हो जो थोड़ी महंगी हो ! 

    SBI FESTIVAL LOAN के बारे में जानकारी थोड़ी हट के हो सकती हैं क्योकि आज मैं आपको इसकी सम्पूर्ण जानकारी देने जा रहा हूँ ! आज मैं आपको इस ख़ास प्रोडक्ट की जानकारी के साथ इसके ब्याज और इसमें लगने वाले डाक्यूमेंट्स की जानकारी भी दूंगा इसके अलावा SBI FESTIVAL LOAN को लेना कितना आसान हैं ये भी समझाने की कोशिश करूँगा ! दोस्तों यहाँ आपसे निवेदन हैं की इसकी खासियत से ब्याज तक की जानकारी पूरी पढ़ना आपके लिए जरुरी हैं, यदि आप बिच में जानकारी छोड़ देंगे या आधी अधूरी जानकारी पढेंगे तो आप इस SBI FESTIVAL LOAN प्रोडक्ट  को पूरा नहीं समझ पायेंगे और यदि आप इस प्रोडक्ट की आधी अधूरी जानकारी लेंगे तो इस लोन को लेने में भी आपको समस्या हो सकती हैं !
    तो चलिए जानते हैं इस ख़ास लोन प्रोडक्ट के बारे में,


    SBI FESTIVAL LOAN की खासियत

    SBI FESTIVAL LOAN अपने आप में ख़ास हैं, जहा एक और ये आसानी से उपलब्ध हो जाता हैं वही इसकी कुछ और भी खासियत भी मौजूद हैं ! आईये एक एक करके सबसे पहले जानते हैं इसकी क्या क्या खासियत हैं,

    कम ब्याज - SBI FESTIVAL LOAN को लेने में बहुत ही कम ब्याज लगता हैं SBI की कार्पोरेट वेबसाईट पर इसका उल्लेख मिलेगा हालाँकि इस ब्लॉग के आखरी में इस प्रोडक्ट के ब्याज के बारे में भी आपको जानकारी जरुर मिलेगी !

    कम या न के बराबर प्रक्रिया शुल्क - SBI FESTIVAL LOAN लेने में बहुत ही कम या ये कहा जाए की न के बराबर प्रोसेसिंग फीस या प्रक्रिया शुल्क आपको देना पढ़ेगा ! 

    कोई भी छुपा हुआ चार्जेस नहीं होना - SBI FESTIVAL LOAN की प्रोसेस में या इस तरह के लोन को लेने में किसी भी प्रकार का हिडन चार्जेस मौजूद नहीं हैं तथा इस लोन के पुनर्भुगतान में भी किसी प्रकार का छुपा हुआ चार्ज मौजूद नहीं रखा गया हैं !

    बिना किसी स्क्युरिटी के आसानी से लोन – इस लोन को लेने में आपको किसी भी प्रकार की सिक्युरिटी नहीं देना पड़ती क्योकि SBI FESTIVAL LOAN एक तरह से अन्स्क्योर लोन हैं !

    लोन पर किसी तरह की प्री-पेमेंट पेनेल्टी न होना – लोन के भुगतान करने के समय यदि आपके पास एक मुश्त पैसा आ जाता हैं तो आप इस पैसे से SBI FESTIVAL LOAN का प्री-पेमेंट बिना किसी पेनेल्टी शुल्क के जमा कर सकते हैं !


    किस आवश्यकता के लिए लिया जा सकता हैं ?

    दोस्तों इस लोन को आप आपके त्योहारी सीजन में होने वाले खर्चो के भुगतान के लिए ले सकते हैं अब ये खर्चे कुछ भी हो सकते हैं ! जैसे महंगे गेजेट्स खरीदना,घर में फिनिशिंग करवाना,घर का फर्नीचर खरीदना या ऐसा कोई भी खर्चा जो इस त्योहारी सीजन में आपको करना हो और आपके पास पैसो का अरेंजमेंट न हो तो इस लोन को लेकर आप उन खर्चो को पूरा कर सकते हैं ! जहा एक और बाकी प्रकारों के लोन में लोन की राशि के उपयोग की पाबंदी होती अहिं वही इस तरह के लोन को लेकर उसके उपयोग की कोई पाबन्दी मौजूद नहीं हैं !

    Useful Link




    इस लोन को लेने में आपकी क्या योग्यता होना चाहिये ?

    SBI FESTIVAL LOAN ELIGIBILITITY की अगर बात की जाए तो यदि आप सरकारी कर्मचारी हैं? किसी प्रायवेट संस्था में काम करते हैं ? या आप किसी कम्पनी में जॉब करते हैं तो आपका वर्तमान नोकरी का अनुभव कम से कम 2 साल का होना आवश्यक हैं इसके अलावा यदि आप व्यापार या व्यवसाय से जुड़े हैं तो आपको वर्तमान बिजनेस का कम से कम 3 साल का अनुभव होना जरुरी हैं ! यहाँ अनुभव का मतलब हैं की आपकी स्टेबिलिटी बताये गए समय तक की होनी चाहिये ! 

    इनकम की अगर बात की जाए तो जॉब या बिजनेस से आपकी स्थायी आय होना जरुरी हैं मतलब आप जो भी काम करते हैं उसकी इनकम स्थायी होना जरुरी हैं ! जिसका वेरिफिकेशन इनकम टेक्स डिपार्टमेंट या टीडीएस डिपार्टमेंट से किया जा सकता हों इसी के साथ आपकी कम से कम महीने की आय 3000/- या उससे ज्यादा होना जरुरी हैं ! एक बात और अगर आपके परिवार में कोई और भी कमाने वाला सदस्य हैं तो आप जॉइंट रूप से इस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं इससे आपको ज्यादा लोन राशि मिलने का फायदा मिल सकता हैं !


    कितना मिल सकता हैं लोन ?

    SBI FESTIVAL LOAN AMOUNT की अगर बात की जाए तो वैसे ये पूरी तरह से आपकी क्षमता पर निर्धारित हैं लेकिन SBI ने इसको लेकर भी एक पेरामीटर तय कर रखा हैं जिसके अंतर्गत आप कम से कम 5000/- तक का लोन इस प्रोडक्ट के अंतर्गत ले सकते हैं वही ज्यादा से ज्यादा आपकी आय का 4 गुना तक लोन ले सकते हैं ! 


    क्या क्या दस्तावेज होने चाहिये ?

    SBI FESTIVAL LOAN DOCUMENTS की अगर बात की जाये तो लोन आवेदन कर रहे व्यक्ति का एक पासपोर्ट साइज फोटो के साथ यदि आप जॉब करते हैं तो सेलेरी स्लिप तथा फॉर्म नंबर 16 आपको यहाँ देने पड़ेंगे वही अगर आप बिजनेस में हैं तो बिजनेस प्रूफ के साथ इनकम टेक्स रीटर्न की कापी आपको यहाँ लोन आवेदन के साथ देना पड़ सकती हैं ! 


    प्रक्रिया शुल्क क्या हैं ?

    SBI FESTIVAL LOAN PROCESSING FEES की अगर बात की जाए तो आपके लिए जा रहे लोन अमाउंट का 1% gst के साथ आपको यहाँ प्रक्रिया शुल्क के रूप में देना पड़ेगा ! इसके अलावा प्री-पेमेंट चार्जेस और अन्य चार्जेस भी हैं जिनका उल्लेख आपको लोन प्रक्रिया के दौरान बताया जाता हैं ! यहाँ आपको एक सुझाव हैं की प्रोसेसिंग और अन्य चार्जेस के बारे में लोन लेने के पहले अच्छे से समझ ले !


    कितना ब्याज देना होगा ?

    SBI FESTIVAL LOAN Interest rate को समझा जाए तो इस तरह के लोन पर आपको लगभग 8.25% से 13.50% तक का ब्याज चुकाना पड़ सकता हैं लेकिन यह ब्याज दर अनुमानित ब्याज दर हैं, और समय समय पर इसमें परिवर्तन होते रहते हैं तो आप यहाँ ( SBI FESTIVAL LOAN INTEREST LIST ) जाकर ब्याज के बारे में विस्तृत जानकारी ले सकते हैं !


    कैसे आवेदन करे 

    SBI FESTIVAL LOAN APPLY करने के लिए आप स्थानीय SBI शाखा में आवेदन कर सकते हैं या यदि आप SBI के अकाउंट होल्डर हैं तो आप योनो एप से भी इस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं ! इसके अलावा मेने यहाँ SBI FESTIVAL LOAN APPLY लिंक दी हैं आप इसपे क्लिक करके सीधे आवेदन कर सकते हैं !

    तो दोस्तों ये थी जानकारी SBI FESTIVAL LOAN के बारे में उम्मीद करता हूँ इस त्योहारी सीजन को बिना किसी आर्थिक तंगी से मनाने के लिए इस तरह का लोन आपकी बहुत मदद कर सकता हैं ! इस पूरी जानकारी को आसान बनाने की कोशिश की गयी हैं अगर आपको ये जानकारी पसंद आयी हैं तो प्लीज इस ब्लॉग को लाइक करे इसके अलावा आपके दोस्तों से भी ये लिंक शेयर करके उनकी मदद करे ! और SBI FESTIVAL LOAN को और ज्यादा समझने में आपको कोई दिक्कत हो या इस लोन प्रोडक्ट को लेकर आपके मन में कोई सवाल हो तो आप निचे कमेंट्स करके पूछ सकते हैं ! हमारे साथ बने रहने के लिए धन्यवाद !



    मंगलवार, 1 अक्तूबर 2019

    Your Eligibility for Personal Loan and Required Documentation

    Your Eligibility for Personal Loan and Required Documentation

    Eligibility for Personal Loan,Required Documentation


     Loan Eligibility For Salaried Person

    आवेदक की न्यूनतम आयु 21 वर्ष होना आवश्यक हैं!loan Maturity समय तक आयु 58 वर्ष से कम होना आवश्यक हैं!वर्तमान जॉब में न्यूनतम 1 वर्ष की अवधि होनी चाहिए तथा पूर्व की जॉब में 2 वर्ष और उससे अधिक की अवधि होना!मासिक न्यूनतम सेलेरी 17500/- !

    Loan Eligibility For Self employed Person

    आवेदक की न्यूनतम आयु 25 वर्ष होना आवश्यक हैं!
    loan Maturity समय तक आयु 60 वर्ष से कम होना आवश्यक हैं!
    वर्तमान व्यापार में न्यूनतम 3 वर्ष की अवधि होनी चाहिए
    समान्य बिजनेस में 1 लाख से अधिक और पेशेवर बिजनेस में 2 लाख से अधिक का न्यूनतम सालाना लाभ(Net Profit After deductioion tax) होना चाहिये !


    अगर आप उपरोक्त पात्रता को पूर्ण करते हैं तो आप ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं !

    Required the documents as per List while applying for personal loan

    वर्तमान जॉब का प्रमाण पत्र-Offer Letter
    वर्तमान जॉब में नियुक्ति पत्र – Opointment लैटर
    पिछली जॉब का रेलेविंग लेटर और अन्य कोई दस्तावेज
    यदि आप जॉब में हैं तो पिछले 6 महीने की बैंकिंग जिसमे आपकी सेलेरी आ रही हैं साथ में 6 महीने की पे-स्लिप
    फॉर्म न. 16 यदि आवश्यक हो तो!
    यदि आप व्यापारी हैं तो 2 वर्ष का इनकम tax रिटर्न बलेंस शीट तथा अन्य विवरणों के साथ

    Documents Required for Personal Loans 

    आवेदक की न्यूनतम आयु 21 वर्ष होना आवश्यक हैं!
    loan Maturity समय तक आयु 58 वर्ष से कम होना आवश्यक हैं!
    वर्तमान जॉब में न्यूनतम 1 वर्ष की अवधि होनी चाहिए तथा पूर्व की जॉब में 2 वर्ष और उससे अधिक की अवधि होना!
    मासिक न्यूनतम सेलेरी 17500/- 

    Loan Eligibility  for Self-Employed     

    आवेदक की न्यूनतम आयु 25 वर्ष होना आवश्यक हैं!
    Loan Maturity समय तक आयु 60 वर्ष से कम होना आवश्यक हैं!
    वर्तमान व्यापार में न्यूनतम 3 वर्ष की अवधि होनी चाहिए
    समान्य बिजनेस में 1 लाख से अधिक और पेशेवर बिजनेस में 2 लाख से अधिक का न्यूनतम सालाना लाभ(Net Profit After Deductioion Tax) होना चाहिये !
    Financial Documents
    नौकरी में बने रहने का सबूत: कोई भी
    वर्तमान जॉब प्रमाण पत्र
    वर्तमान जॉब नियुक्ति पत्र
    पिछली जॉब्स का अनुभव प्रमाणपत्र

    आय प्रमाण:
    पिछले 3 महीने की पे सिल्प
    6 महीने बैंक स्टेटमेंट
    पिछले 2 वर्षों में फॉर्म न. 16 यदि आवश्यक हो तो
    पिछले 2 वर्ष का इनकम Tax रिटर्न आय के आकलन और बेलेंसशीट के साथ
    बैंक स्टेटमेंट: पिछले 6 महीनों का
    व्यापार और निवास स्वामित्व: (कोई भी सबूत)

    KYC: आपके पहचान सम्बन्धी दस्तावेज
    Pan Card
    Adhaar Card
    Voter Id
    Utility Bill

    हमारे विशेषरूप से आपके लिए बनाए गए ऋण विकल्पों को आपने देखा होगा आज ही अपनी लोन एप्लीकेशन करे!

    शनिवार, 28 सितंबर 2019

    Festive season में Loan लेने से पहले इन तरीकों को अपनाए- कम जमा करना पड़ेगी EMI

    Festive season में Loan लेने से पहले इन तरीकों को अपनाए- कम जमा करना पड़ेगी EMI

    त्योहारों की शुरुआत के साथ ही लोग नया घरकारज्वेलरी और अन्य आवश्यक चीजो खरीदने लगते हैं. अगर आपने भी इस तरह सोच रखा हैतो फिर Loan लेने से पहले कई बातों का बहुत अधिक ध्यान रखना आपके लिए आवश्यक हो जाता है. इन बातो को ध्यान में रखकर आप Loan EMI का बर्डन काफी कम पड़ेगा.

    जानिये कैसे कम होगी Loan EMI ?

    जब भी कोई आदमी Home Loan लेने के बारे में सोचता है या फिर उस आदमी का किसी भी तरह का लोन Loan पहले से चल रहा होता हैतो उसके मन में हमेशा से ये ख्याल रहता है कि उसकी Loan EMI कम रहे. इसमें Loan Interest के अलावा Loan Process करने का Charge और Loan Closure charge भी शामिल हैजो कि प्रत्येक Bank या Finance Company में काफी अलग-अलग होता है.

    NEW Loan कस्टमर अपना सकते हैं यह तरीके

    नए Loan कस्टमर्स को यह जानना अत्यंत आवश्यक है कि किस बैंक या वित्तीय संस्था से उनको Loan कम ब्याज पर मिल सकता है. सबसे पहले यह जानकारी लें कि Loan लेना हमेशा जोखिम भरा निर्णय होता है. इसलिए कभी भी Loan लेना हो तो अनदेखी करके बिलकुल  लें. ऐसा करने से आप आगे चलकर आर्थिक समस्याओं में फंस सकते हैं. आपके पास Loan को बाद में पुनर्भुगतान के लिए एक अलग से प्लान होना आवश्यक हैंजिससे भविष्य में किसी तरह की समस्या  हो.
    दोस्तों आज मैं आपको इस त्योहारी सीजन में लोन लेने के कुछ टिप्स दे रहा हूँजिनको Loan लेने से पहले आपको जानना अत्यंत आवश्यक है.

    Loan Interest Rate का करें सही चुनाव

    Loan से पहले सभी तरह का Loan Offer का अच्छे से अध्ययन करना चाहिये. इसमें यह देंखे कि Bank या Finance Company आपको Loan पर Loan Interest Rate कैसे देगा. अधिकतर दो तरह से Bank या Finance Company कस्टमर्स को Loan पर Loan Interest Rate देती हैं. एक MCLR और दूसरा Repo Rate से लिंक. इस महीने से RBI द्वारा Repo rate link based Home Loan लागू किया हैं इस बात का ध्यान रखे .

    नेट इनकम के बाद यह भी होना आवश्यक हैं

    किसी भी व्यक्ति को Loan उसकी इनकम और Loan पुनर्भुगतान की क्षमता के आधार पर मिलता है. Home Loan देने वाले Bank Loan Amount के रुप में अधिकतर प्रॉपर्टी का 80% वैल्यू के बराबर Loan देते हैं. इनकम को चेक करते टाइम बैंक या वित्तीय कम्पनी आपकी नेट इनकम को नहीं देखते जो पे स्लिप पर लिखी हो बल्कि वो इनकम देखते हैं जो Loan पुनर्भुगतान के लिए चुकाई जा सकने वाली होगी.

    POOR CIBIL SCORE हैं तो नहीं मिलता किसी प्रकार का Loan

    Loan किसी व्यक्ति की Credit ability के base पर मिलता है. Credit Information Bureau India Limited (CIBIL) आपको 300 से 900 नम्बरों के बीच एक Credit Score प्रदान करता है. ये इस आधार पर निर्धारित होता है कि आपने पहले के Credit Card या लोन उपयोग कितना है या कैसे उन सभी का भुगतान किया हैंकोई चेक बाउंस नहीं हुआ हैमौजूदा Loan, बीमा या इंश्योरेंस के मौजूदा Loan, अन्य लोन और आपने कितनी बार Loan या Credit Card के लिए एप्लीकेशन दिया है. जिन लोगों को Credit Score 700 से अधिक होता है उन्हें Loan सरलता से मिल जाता है.

    Loan Tenure का निर्धारण

    Loan Amount, Loan Interest Rate और इसके Tenure के आधार पर Loan EMI निर्धारित होती है. Loan EMI, Loan के Tenure के विपरीत संबंधित होती है. जैसे जितना अधिक Loan का Tenure होगा उतनी ही कम Loan EMI जमा करना होगी और जितना कम Loan Tenure होगाउतनी ज्यादा रकम की Loan EMI होगी. ठीक इसी तरह कुल Loan Interest rate भी Loan के Tenure के आधार पर निर्धारित किया जाता है. जितना अधिक Loan Tenure होगा उतना ही ज्यादा Loan Interest Rate होगा और जितना कम Loan Tenure होगा उतना ही कम Loan Interest जमा करना पड़ेगा.