सेवा गृह ऋण - जो करेगी देश के गरीबो का सपना साकार (सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में)



सेवा गृह ऋण भारत की पहली ऐसी कंपनी हैं, जिस कंपनी में राष्ट्रीय आवास बैंक(NHB)एवं हाउसिंग एन्ड अर्बन डेवलपमेन्ट कारपोरेशन(HUDCO)जैसे सरकारी उपक्रमो की भागीदारी हैं। साथ ही भारत के प्रमुख निजी वित्तीय संस्थान सेवा म्यूचल बेनिफिट ट्रस्ट, एक्सिस बैंक,HDFC होल्डिंग,लोक केपिटल,ACUMEN फण्ड,AHI फंड आदि की भी हिस्सेदारी हैं।
सेवा गृह ऋण न केवल एक वित्तीय सहायता प्रदाता कंपनी हैं, किन्तु साथ ही गरीब महिलाओ ओर उनके परिवारों के लिए सामाजिक एवम आर्थिक उत्थान के उधेश्य को पूरा कर रही हैं।
सेवा गृह ऋण का देश के पुराने एवम बड़े सामाजिक संगठन स्वाश्रयी महिला सेवा संघ से भी वैचारिक संबंध हैं स्वाश्रयी महिला सेवा संघ अर्थात "सेवा" की स्थापना सन 1972 में पद्मश्री इला बेन भट्ट द्वारा अहमदाबाद में की थी।

वर्तमान में जहां अनेक वित्तीय संथाये एवम बैंके गृह ऋण हेतु ऋण उपलब्ध कराती हैं। किन्तु इन समस्त वित्तीय संस्थानों की प्रक्रिया एवम कागजी कार्यवाही अत्यंत जटिल होती हैं। सरल अर्थो में कहा जाए तो उक्त समस्त बैंक अथवा वित्तीय संस्थान ऐसे समस्त परिवारों को ऋण देने में असमर्थ होती हैं जो परिवार अत्यंत गरीब हैं तथा जिनके पास आय के दस्तावेज कम हैं अथवा नही हैं। 
जहां अन्य बैंक और कंपनियों को संपत्ति संबंधी सम्पूर्ण दस्तावेजो की आवश्यकता होती है वही इन निर्धन परिवारों एवम असंगठित कामकाजी परिवारों के पास संपत्ति के दस्तावेज की पूर्णता भी नही होती।
समाज के इस निर्धन तबके के परिवारों की इन्ही समस्याओ को ध्यान में रखते हुए उनके सामाजिक एवम आर्थिक स्तिति में सुधार तथा रहने की जगह की आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु सेवा गृह ऋण कटिबद्ध हैं।
सेवा गृह ऋण भारत के 6 राज्य दिल्ली-एनसीआर,उत्तर-प्रदेश,मध्यप्रदेश,महाराष्ट्र,राजस्थान एवम बिहार में कार्यरत हैं। और अपने अनुभवी कर्मचारियों के माध्यम से निर्धन एवम असंगठित कामकाजी महिलाओ एवम उनके परिवारो को गृह ऋण प्रदान करने का कार्य कर रही हैं।
इतना ही नही सेवा गृह ऋण भारत सरकार कि योजनाओ में भी बढ़चढ़कर भागीदार हैं और प्रधानमंत्री आवास योजना में क्रेडिट लिंक सब्सिडी के माध्यम से अपने ऋणग्रहीताओ को सब्सिडी की सुविधा प्रदान कर रहा हैं इतना ही नही सेवा गृह ऋण सरकार की गरीब वर्गो हेतु आवास उपलब्ध कराने के लिए चलाई जा रही योजनाओं में भी भागीदारी रखता हैं इसी परिप्रेक्ष में दिल्ली में दिल्ली अर्बन स्लम इम्प्रोवमेंट बोर्ड(DUSIB) के साथ मिलकर योजना के पात्र हितग्राहियो को ऋण के माध्यम से आवास उपलब्ध कारने का कार्य कर रहा हैं।
मध्यप्रदेश में भी ऐसी समस्त गरीबी शहरी आवास योजनाओ में सेवा गृह ऋण जल्द ही अपनी भागीदारी देगा एवम पात्र हितग्रहियों को ऋण के माध्यम से आवास की उपलब्धता सुनिचित करेगा।
सेवा गृह ऋण से आवास हेतु ऋण लेना अत्यंत सरल हैं।

मंगलेश मधुकर राव 

SHARE

Manglesh Rao

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें