Financial-Loan-Personal Loan,Home Loan,Business Loan Information In Hindi

↑ Grab this Headline Animator

No Cost EMI AND 0% Cost EMI

No Cost EMI 0% Cost EMI
दोस्तों, त्योहारों का सीजन नजदीक हैं ऐसे में बहुत से लोग किसी इलेक्ट्रानिक आईटम या महंगे मोबाइल फोन खरीदने के बारे में सोच रहे होंगे ! बहुत से लोग इन चीजो को No Cost EMI या 0% Cost EMI पे भी खरीदना चाहते होंगे ! और सही भी हैं एक मुश्त इतना पैसा कहा से लाये तो ये विकल्प ऑनलाइन और ऑफलाइन मार्केट में अवेलेबल हैं !

लेकिन शायद आपको पता नहीं होगा की इन No Cost EMI या 0% Cost EMI के ऑफर पर  कुछ भी मुफ्त नहीं होता ! इसकी एक कीमत चुकानी होती हैं ! तो क्या आप इसकी असली कीमत जानना चाहते हैं ?और इस No Cost EMI या  0% Cost EMI पे कैसे आपको नुकसान होता हैं ये समझना चाहते हैं तो आपको हमारे साथ आखरी तक बने रहना होगा !

दोस्तों, बात चाहे महंगे मोबाईल की हो या घर के किसी इलेक्ट्रोनिक सामान की जब भी आप उसे No Cost EMI या 0% Cost EMI पर लेते हैं तो वह एक तरह से कंस्यूमर ड्यूरेबल लोन होता हैं !
ज्यादातर ऑफलाइन या ऑनलाइन रीटेलर इस तरह के लोन के लिए फाइनेंस कम्पनी से पहले से टाइअप करके रखते हैं ! ताकि वे उन ग्राहकों को भी अपना सामान बेच सके जिनके पास पर्याप्त पैसे नहीं हैं !
लेकिन आज कल बाजार में इस तरह के लोन को No Cost EMI या 0% Cost EMI के रूप में एड्वर्टाईज किया जाता हैं ! लेकिन क्या आप जानते हैं आमतौर पर इसपे 16 से 24 % तक का महँगा ब्याज आपको चुकाना पड़ता हैं !

 दोस्तों बात करते हैं कैसे काम करती हैं No Cost EMI या 0% Cost EMI
दरसल No Cost EMI या 0% Cost EMI सिर्फ एक मार्केटिंग फंडा हैं ! और इस लोन का ब्याज, आपसे किसी न किसी तरीके से वसूल लिया जाता हैं
वेसे इसके बहुत से तरीके हैं लेकिन हाल में दो तरीके काफी ज्यादा प्रचलित हैं !

पहला हैं जब आप ऑनलाइन प्लेटफोर्म से कोई गेजेट या सामान No Cost EMI या 0% Cost EMI के माध्यम से खरीदते हैं तो उसमे मिलने वाली छुट या डिस्काउंट आपको नहीं दि जाती और उस डिस्काउंट का पैसा लोन देने वाली कम्पनी को दिया जाता हैं जो उस लोन के ब्याज के बराबर ही होता हैं ! 

दुसरा तरिका हैं जब भी आप ऐसी शोपिंग No Cost EMI या 0% Cost EMI के द्वारा करते हैं तो इस लोन के ब्याज की रकम ख़रीदे गए प्रोडक्ट के रेट में जोड़ दी जाती हैं !

दोस्तों थोड़ा और समझने के लिए मान लीजिये आपको कोई मोबाईल फोन खरीदना हैं ! और जब आप ऑनलाइन शोपिंग साईट पे जाते हैं तो आपको हमेशा दो विकल्प दिखाई देते हैं ! एक होता हैं कैश पर्चेस और दुसरा होता हैं No Cost EMI ऑफर, दोनों ही ऑफर में रेट का एक बड़ा अंतर होता हैं ! अगर आप केश में मोबाइल खरीदने का ऑफर चुनते हैं तो आपको 15000/- का मोबाइल 15000 रु. में ही मिलता हैं ! लेकिन जब आप No Cost EMI का ऑफर चुनते हैं तो उस मोबाइल की कीमत आपको लगभग 17250 रुपये तक चुकानी पड़ सकती हैं ! यानी आपको 2250 रूपये अतिरिक्त देनें होते हैं और ये रकम उस लोन का ब्याज होती हैं ! अक्सर लोग इस No Cost EMI के चक्कर में इसलिए भी फस जाते हैं क्योकि उनके पास एकमुश्त पैसा नहीं होता और उन्हें ये एक सुविधा लगती हैं न की लोन !



SHARE

Manglesh Rao

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें