Financial-Loan-Personal Loan,Home Loan,Business Loan Information In Hindi

↑ Grab this Headline Animator

इस दिवाली होम लोन लेने से पहले जान ले 10 जरुरी बाते ! | Diwali Home Loan Tips

दोस्तों,बहुत से लोग दीवाली के पहले नए घर को खरीदने का सपना देखते हैं, अगर आप भी उन्ही में से एक हैं और आप भी इस त्यौहार पर होम लोन लेने की सोच रहे हैं तो इससे पहले आपको कुछ बाते जान लेना बहुत जरुरी हैं !
इन बातो को समझकर आप आसानी से होम लोन ले सकते हैं साथ ही अच्छे होम लोन ऑफर भी पा सकते हैं !
दोस्तों,होम लोन के ये ख़ास 10 टिप्स आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं , और इसे जानने के लिए आपको हमारे साथ आखरी तक बने रहना होगा !


दोस्तों,वैसे तो होम लोन लेना एक जटिल प्रक्रिया हैं लेकिन आज इन टिप्स को समझकर आप इसे आसान बना सकते हैं !
पहला- अपनी होम लोन योग्यता को समझे !
दोस्तों,सबसे पहले आपको ये देखना होगा की होम लोन लेने के लिए आप योग्य हैं या नहीं, बैंक या फाइनेंस कंपनिया आपकी होम लोन योग्यता को चेक करने के लिए आपकी आय,रेपेमेंट केपेसिटी, उम्र,एजुकेशन,वित्तीय स्थिति और आपकी जाब और व्यवसाय की स्टेबलिटी आदि चेक करते हैं !  ऐसे में होम लोन लेने के लिए जरुरी हैं की आप इन सभी क्रायटेरिया को मजबूत करे जिससे की आपको होम लोन लेने में आसानी हो !और आपका होम लोन रिजेक्ट न हो!


दुसरा हैं-होम लोन के अलग अलग प्रकारों को समझे
दोस्तों,ज्यादातर लोग होम लोन को एक ही मानते हैं लेकिन ये अलग अलग प्रकारों से मिलता हैं इसमें मुख्यत तीन प्रकार हैं !
1.          एडजेस्टेबल या फ्लोटिंग रेट लोन    दोस्तों इसमें ब्याज दरे बैंक या फाइनेंस कम्पनी के एक बेंचमार्क से जुडी होती हैं अगर बैंक के बेंचमार्क दर में बदलाव होता हैं तो आपके लिए गए होम लोन की ब्याज दर में भी बदलाव होता हैं !
2.          फिक्स रेट लोन – इसमे जब आप होम लोन लेते हैं उस समय जो ब्याज दर तय की गयी हैं वाही पूरी होम लोन अवधि तक चुकानी पड़ती हैं और इसमें कोई बदलाव नहीं होता!
3.          काम्बीनेशन लोन-इसमें होम लोन के ब्याज का एक हिस्सा फिक्स रेट पर लिया जाता हैं और एक हिस्सा फ्लोटिंग रेट पर वसूला जाता हैं!


अब बात करते हैं तीसरे टिप्स की – तय करे पहले घर या लोन
दोस्तों,कई लोग घर और होम लोन दोनों एक साथ लेने का प्रयास करते हैं लेकिन ये एक गलत तरिका हैं ! इसके लिए आपको सबसे पहले अपनी आय के आधार पर होम लोन स्वीकृत करा लेना चाहिये इससे आपको घर खरीदने में आसानी होगी और आप अपने बजट को आसानी से निर्धारित कर पायेंगे !

चौथा हैं – लोन की रकम
दोस्तों, लोन की रकम आपकी आय और संपत्ति की वेल्यु पर निर्धारित होती हैं, वर्तमान में सभी बैंक और HFC संपत्ति की वेल्यु का 70 से 90% तक लोन देते हैं!मान लीजिये आप कोई 35लाख का घर खरीद रहे हैं तो आपको 30लाख का लोन आसानी से मिल सकता हैं!आय के अनुरूप यदि लोन की बात करे तो आप अपने लोन आवेदन में घर के किसी कमाने वाले सदस्य को सह-आवेदक बना सकते हैं  जिससे आपको ज्यादा लोन मिलने की संभावना बड जाती हैं !

पांचवा टिप्स हैं – लोन पे लगने वाले खर्च का ध्यान रखे
दोस्तों,लोन लेने के पहले और बाद में कई खर्च होते हैं ! अगर लोन लेने के पहले वाले खर्चो की बात की जाए तो प्रक्रिया शुल्क,स्टाम शुल्क,मोर्टगेज चार्जेज,प्री-ईएमआई आदि खर्च आपको चुकाने पड सकते हैं !
और लोन लेने के बाद भी कुछ चार्जेस लगते हैं जैसे लेट फीस,बाउंसिंग चार्जेज,प्री-पेमेंट,पार्ट पेमेंट चार्जेस आदि लोन लेते समय इन सभी चार्जेस को अच्छे से समझ ले !

छठा हैं – EMI या प्री-EMI,  दोस्तों, EMI तो आप अच्छे से जानते ही होंगे लेकिन प्री-EMI को भी लोन लेने के पूर्व ही समझ ले वैसे तो ये कंस्ट्रक्शन चल रहे घर को खरीदने में लगती हैं! मान लीजिये आप किसी बिल्डर से मकान खरीद रहे हैं और वो आपको घर बना के देने वाला हैं तो बैंक उसे टुकडो में लोन का पैसा देगा ऐसे में जितनी राशी उसे मिलती जायेगी उतनी राशि पर आपको प्री-EMI के रूप में ब्याज देना होगा !

सातवा हैं – लोन की अवधि
दोस्तों,वैसे तो लोन 5 से 30 साल के लिए लिया जा सकता हैं लेकिन कोशिश करे की आप आपके होम लोन की अवधि ज्यादा से ज्यादा रखे जिससे आप पर किश्तो का बोझ कम आयेगा !

आठवा टिप्स हैं – लोन के दस्तावेज --दोस्तों,होम लोन लेने के पहले आपको KYC डाक्यूमेंट्स जैसे ID-एड्रेस प्रूफ  के साथ अन्य दस्तावेज भी तेयार रखने होंगे ! साथ ही साथ आपके पुराने लोन और वर्तमान में चल रहे लोन के दस्तावेजो के साथ इनकम से जुड़े पेपर भी आपको लोन लेने में देने पड़ सकते हैं ! इसलिए ये दस्तावेज पहले से तेयार करके रखे !

नवा हैं-इन्शोरेस कवर – दोस्तों, होम लोन को कवर करने के लिए टर्म इंशोरेंस जरुर ले ! ये आपको सुरक्षा प्रदान करता हैं ! भगवान् न करे कभी कोई दुर्घटना में आप न रहे तो आपके परिवार को लोन का बोझ इस इंशोरेंस कवर की मदद से नही उठाना पडेगा !

दसवा और आखरी टिप्स हैं – डिफाल्ट कभी न करे
दोस्तों, हमेशा कोशिश करे की आप अपनी होम लोन की किश्ते समय पर जमा करे ! इससे आपके डिफाल्ट होने का चांस नहीं होगा! बैंक और हाउसिंग फाइनेंस कम्पनियों के नियमो के मुताबिक़ यदि आप लगातार 3 किश्ते नहीं जमा करते तो आप पर एक्शन लिया जाता हैं ! ऐसे में आपको कानूनी परेशानी के साथ ही साथ घर की नीलामी तक का सामना करना पड़ सकता हैं!
https://youtu.be/Hehmt-sM2uI

SHARE

Manglesh Rao

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें