सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Loan settlement करने का क्या पड़ेगा प्रभाव

Loan Settlement करने का क्या पड़ेगा प्रभाव

loan settlement,loan settlement ke nuksan,loan settlement kaise kare,loan settlement rules,loan settlement meaning,loan settlement letter to bank

Loan Settlement करने का क्या पड़ेगा प्रभाव - दोस्तों, मैंने आपके बेहतर Credit Score को लेकर कई Information इस प्लेटफॉर्म पर दी हैं. साथ ही समय समय पर में आपके लिए Loan और फाइनेंस से जुडी ऐसी ही Information लाता रहता हूँ. इन Information से न केवल आप अपनी Credit Rating ठीक रख सकते है बल्कि अपनी Loan से जुडी सभी Problems को हल कर सकते हैं. आज के इस टॉपिक पर हम Loan Settlement और उससे जुड़े प्रभावों के बारे में जानने की कोशिश करेंगे. तो अगर आप इस पूरी Information को पाना चाहते हैं तो हमारे साथ आखरी तक बने रहे क्योकि Loan Settlement से जुडी  सभी Important बातो को हम आज समझेंगे.


Loan Settlement करने का क्या पड़ेगा प्रभाव - Financial Problems सभी के जीवन में आती हैं. ऐसी सभी Problems के चलते कई Loan अपने चल रहे Loan का भुगतान करने में चुक जाते हैं. Loan का वर्डन बढ़ने पर उस Loan को पूरी तरह चुका पाने में असमर्थ हो जाते हैं. इसके परिणाम स्वरुप Loan defaulter की श्रेणी आ जाता हैं. Loan defaulter होना वेसे सिर्फ आपकी खराब वित्तीय स्थिति पर ही निर्भर नहीं करता बल्कि कई बार Bank और फाइनेंस कंपनी के गलत कमिटमेंट और उनसे विवाद के चलते भी आप Loan चुकाना बंद कर देते हैं. ऐसे में Bank या फाइनेंस कंपनी बार बार आपको Loan चुका देने के लिए बार बार देती हैं, लेकिन 91 दिन Loan न चुकाए जाने की दशा में Bank या फाइनेंस कंपनी आपके Loan खाते को नॉन-परफोर्मिंग एसेट्स यानी NPA घोषित कर देती हैं. लेकिन कहानी यही ख़त्म नहीं होती, Bank Loan को रीकवर करने की कोशिश करती रहती हैं. और इसी कोशिश में Bank आपको Loan Settlement का ऑफर  करती हैं. लेकिन आपको Loan Settlement करना चाहिये या नहीं ये बात समझ लेना जरुरी हैं. 7 पॉइंट में समझते हैं.

Loan Settlement ऑफर क्यों किया जाता हैं .

Bank या Finance Company पर अपने बिगड़े हुए Loan को सुधारने और उन्हें नियमित करने का बहुत सा प्रेशर होता हैं . साथ ही Bank और फाइनेंस कंपनिया हमेशा चाहती हैं, की कम से कम जो मूलधन Loan के रूप में दिया गया हैं, वो वापिस आ जाए. ऐसे में अगर कोई Loan खता NPA की कगार पे आ जाता हैं, तो उसे फिर से ठीक करने के लिए या उस खाते को बंद करने के लिए Bank बहुत से रास्ते अपनाती हैं. उनमे से एक हैं “Loan Settlement” . लेकिन Loan Settlement का मूल उद्धेश्य उस खराब Loan खाते से कुछ ना कुछ रीकवरी का होता हैं. ऐसे में Bank को एक फायदा ये होता हैं की जिस बिगड़े हुए Loan खाते पे किसी तरह से रिकवरी नहीं होना थी, उसमे कुछ न कुछ राशि आ जाती हैं. हालंकि इस सेटेलमेंट को करने के बाद Bank या Finance Company आपके क्रेडिट रिपोर्ट से Loan defaulter का टेग नहीं हटाती बल्कि इस Loan के सम्बन्ध में क्रेडिट रिपोर्ट में Loan Settlement की रिपोर्ट करती हैं.

Loan Settlement का फायदा क्या हैं .

Bank Loan Settlement का ऑफर क्यों करती हैं . इस बात को समझ लेने के बाद आपको ये समझना होगा की इससे आपको Loan Settlement का फायदा क्या हैं . तो दोस्तों वेसे तो इसका सिर्फ इतना फायदा हैं, की यदि आप किसी आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं और आपके पास इतना पैसा नहीं हैं, की आप किसी Loan का रीपेमेंट कर सके ऐसे में आप चाहते हैं की उस Loan को बंद करना ही ठीक हैं, तो आप Loan Settlement करा सकते हैं . आप आपकी आर्थिक शर्त और Bank की शर्तो के साथ एक तय राशि देकर अपना Loan सेटेल कर सकते हैं. Loan Settlement करने पर Bank या फाइनेंस कंपनी आपके Loan खाते को टर्मिनेट करके उसका शेष बकाया loss में बताती हैं.

Loan Settlement का नुकसान क्या हैं .

दोस्तों Loan Settlement करने के बाद Bank सिर्फ आपके Loan खाते को टर्मिनेट करके बाकी बचे ड्यू को loss में दिखाने तक की Process तक सिमित नहीं होते, बल्कि वो इस Loan खाते की Information Credit Score तय करने वाली एजेंसिया जैसे CIBIL,High Mark,Experian आदि को देती हैं. इस Information में Bank या Finance Company आपके Loan खाते को Loan क्लोज्ड होने के बजाये Loan Settlement के रूप में दर्शाती हैं, और कही कही देखने में ये भी आया हैं, की कई कम्पनिया तो सेटेलमेंट किये जाने के बाद बचे हुए ड्यू Loan Amount को भी, आप ही की क्रेडिट रिपोर्ट में loss में शो करती हैं. ऐसी क्रेडिट रिपोर्ट का असर आपके Credit Score पर नकारात्मक रूप से पड़ता हैं और आपके Credit Score में कमी आती हैं. इतना ही नहीं एक से ज्यादा Loan Settlement फ्लेग के कारण आपको भविष्य में Loan मिलने में भी समस्या आ सकती हैं. दोस्तों क्रेडिट रिपोर्ट में Loan Settlement फ्लेग को ये माना जाता हैं, की आप Loan लेने के बाद उसे पूरा जमा करने में असमर्थ थे, और इस फ्लेग को देखकर शायद कोई Bank या फाइनेंस कंपनी आपको अगला Loan देने के लिए तैयार न हो. तो सवाल ये उठता हैं की क्या Loan Settlement करने के बाद आगे Loan मिलेगा .

Loan Settlement करने के बाद आगे Loan मिलेगा .

दोस्तों वेसे तो यहाँ समझना होगा की अगर सच में वित्तीय परिस्थिति बिगड़ने के बाद यदि आपने Loan Settlement किया हैं तो इस बात को Loan देने वाली Bank और फाइनेंस कंपनिया भी समझती हैं. तो पूरी तरह से ये मान लेना की एक बार Loan Settlement करने के बाद भविष्य में कोई Loan नहीं मिलेगा ये गलत होगा. कई परिस्थितियों में Loan Settlement Bank की गलती की वजहों से भी होता हैं जैसे गलत कमिटमेंट या चार्जेस छुपाना या अन्य कोई कारण. यदि इन कारणों के चलते आपने Loan Settlement किया हैं  तो आपको परेशान होने की जरुरत नहीं हैं आप उन कारणों के प्रमाण दिखाने के बाद अगला Loan ले सकते हैं. साथ ही यदि किसी गंभीर आर्थिक Problums के कारण आपने Loan Settlement किया हैं तो उन्हें भी स्पष्ट करके Bank और Finance Company से Loan ले सकते हैं. लेकिन ध्यान रखे ये तभी संभव हैं यदि आपके Credit Score में एक Loan अकाउंट ही Loan Settlement फ्लेग दर्शा रहा हो. एक से ज्यादा Loan की स्थिति में आपके लिए नया Loan लेना मुश्किल होगा.

Loan Settlement न करना हो तो क्या करें .

दोस्तों अब बात करते हैं की यदि आपको Loan Settlement न करना हो तो क्या करना चाहिये . तो जब भी आप कोई Loan ले तो सबसे पहले आपको ये बात ध्यान रखना होगी की आपको वो Loan पूरी तरह से खत्म करना होगा तभी कोई Loan ले. लेकिन Loan डिफाल्ट किसी समस्या या Bank की गलती के कारण हुआ हैं तो Bank को उसकी Information देकर स्थिति साफ़ करे. इसके अलावा यदि आप आर्थिक परेशानियों के चलते Loan चुकाने में समर्थ नहीं हैं तो आप Bank को अपनी स्थिति से अवगत करा सकते हैं और Bank को अपने Loan री-स्ट्रक्चर करने से आपको Loan जमा करने में थोड़ी सहूलियत मिल जाएगी और साथ ही आपको पर्याप्त समय भी अपने Loan को चुकाने का मिलेगा. फिर भी यदि आपको Loan बंद कराना ही हैं तो उसका सेटेलमेंट बिलकुल न करे इसके बजाये आप किसी मित्र या रिश्तेदार की मदद लेकर Loan को पूरी तरह से बंद कराये. लेकिन अब परेशानी उन लोगो की हैं जिनको Loan Settlement के प्रभाव की Information नहीं हैं और उन्होंने पहले से ही अपना Loan Settlement कर लिया हैं.

Loan Settlement पहले ही कर दिया तो अब क्या करें .

दोस्तों यदि आपने Loan Settlement पहले ही कर दिया तो अब क्या किया जाए ये सवाल आपके मन में होगा . तो आपकी Information के लिए बता दे की आप उस Loan को पूरी तरह से बंद यानी Loan क्लोज्ड कर सकते हैं. जी हां यदि अब आपकी वित्तीय स्थिति ठीक हैं और आपके पास पर्याप्त पैसा इस Loan को बंद करने के लिए हैं तो आप Bank या फाइनेंस कंपनी को Loan को पूरी तरह Closed करने का कह सकते हैं. Bank या Finance Company आपको सेटेलमेंट किये गए Loan की बकाया राशि बताएगा और आप उस राशि को एक मुश्त जमा करके अपना Loan क्लोज्ड करवा सकते हैं. ऐसा करने पर Bank आपको एक Loan क्लोजर सर्टिफिकेट देगा जिसे Loan एनओसी कहा जा सकता हैं . Loan के पूरी तरह से क्लोज हो जाने पर Bank या Finance Company इस Loan अकाउंट के सम्बन्ध में क्रेडिट एजेंसीयो को फिर से Information भेजेगा जिसमे आपकी क्रेडिट रिपोर्ट में दर्शित Loan Settlement Flag को बदलकर Loan क्लोज्ड फ्लेग करने का निर्देश होगा. इस Process के बाद 2 से 3 महीनो के भीतर आपके क्रेडिट रिपोर्ट में से Loan Settlement फ्लेग बदलकर Loan क्लोज्ड फ्लेग हो जाएगा. लेकिन Loan क्लोज़र की इस Process के कई महीनो बाद भी क्रेडिट रिपोर्ट से Loan Settlement फ्लेग नहीं हटा तो आपको क्या करना चाहिये . आईये इसे समझते हैं.

Loan क्लोज्ड होने के बाद भी Credit Score नहीं हुआ अपडेट

दोस्तों Loan क्लोज्ड होने के बाद भी Credit Score अपडेट नहीं हुआ और अभी तक भी आपकी क्रेडिट रिपोर्ट में Loan Settlement फ्लेग ही दर्शा रहा हैं तो आपको सिबिल की वेबसाईट पर जाकर अपनी Loan एनओसी के साथ एक सिबिल डिस्प्यूट आवेदन करना होगा ये बिलकुल फ्री हैं. इसके बाद सिबिल सम्बंधित Loan के मामले में Bank से कन्फेर्मेशन मांगेगी एक बार Bank से Loan क्लोज़र का कन्फेर्मेशन मिलने के बाद सिबिल आपकी क्रेडिट रिपोर्ट में सुधार करके Loan Settlement फ्लेग को बदलकर Loan क्लोज्ड फ्लेग कर देगी. लेकिन ये तभी संभव हैं जब Bank इसका कन्फेर्मेशन दे इसके लिए आपको सिबिल डिस्प्यूट आवेदन के बाद Bank पर भी अपने Loan खाते की सही Information सिबिल को उपलब्ध कराने का दबाव बनाना पडेगा.


तो दोस्तों ये थी Information Loan Settlement के बारे में, उम्मीद हैं आपको Information पसंद आये होगी अगर हाँ, तो आर्टिकल को लाइक करे. साथ ही अपने दोस्तों और मित्रो से ये Information व्हाट्सएप करके उनकी मदद करे . अगली बार ऐसी ही किसी Loan और फाइनेंस की Information के साथ फिर से मुलाकात होगी.

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Credit Report में Closed, Settled और WO Flag क्या है

Credit Report में क्लोज,सेटल्ड और राईटऑफ फ्लेग क्या हैं 

Credit Report में Closed, Settled और WO Flag क्या हैं – अच्छा Credit Score आपको न केवल आसानी से Loan दिलाने में मदद करता हैं . CIBIL, HIGHMARK तथा इक्युफेक्स जैसी Credit Rating कम्पनिया आपके Loan की समस्त जानकारिया Bank और फाइनेंस कम्पनियों से प्राप्त करके आपके Credit Score का निर्धारण करती हैं. सामान्यत: यह स्कोर 750 से ज्यादा होने पे आपको Loan मिलने में आसानी हो जाती हैं और इससे खराब स्कोर पर Loan लेने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता हैं.

लेकिन आपकी Credit Report को लेकर तथा इसके अच्छे और बुरे स्कोर को लेकर कही ज्यादा जरुरी हैं इस रिपोर्ट को सही तरीके से समझना. Credit Report के सभी पक्ष और सेक्शन को समझना आपके लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं क्योकि इन सेक्शन को समझकार आप बारीकी से आपके Credit Score को Improve सकते हैं साथ ही एक Good Credit Score बनाए रख सकते हैं.


Credit Report में अकाउंट सेक्शन क्या हैं Credit Report में सबसे महत्वपूर्ण सेक्शन होता हैं “अकाउंट सेक्शन” इस सेक्शन के अंतर्गत आपके द्वारा लिए गए क्रेडिट कार्ड,Ban…

Credit Report की Mistake कैसे सुधारें | How to Correct Credit Report Error in HINDI

Credit Report की Mistake कैसे सुधारें | How to Correct Credit Report Error in HINDI
How to Correct Credit Report Error in HINDI – लखनऊ निवासी नीरज ने कुछ दिनों पूर्व Home Loan के लिए एक हाउसिंग Finance Company में Home Loan Apply किया था. लेकिन उनकी Loan एप्लीकेशन ये कह के रिजेक्ट कर दी गयी की उनका Credit Score कम हैं. जब CIBIL की वेबसाईट से विस्तृत क्रेडिट की report मंगवाया तो उन्हें पता चला की उनका Credit Score पिछले कई महीनो से खराब चल रहा हैं. ऐसा इसलिए क्योकि उनकी रिपोर्ट में Credit Report Error था. इसका मतलब ये हैं की उन्होंने जो Loan नहीं लिया था वो Loan उसमे न केवल रिफ्लेक्ट हो रहा हैं बल्कि उसके Irregular Payment का असर नीरज के Credit Score पर भी लगातार पड रहा हैं.

How to Correct Credit Report Error in HINDI -आप जानते हैं नीरज की Credit Report में जो Credit Report Error आया हैं वो किसी के भी Credit Score में आ सकता हैं . बहुत important हैं की Time-Time पर अपना score जांच करते रहना. ताकि न केवल आप समय रहते Credit Report Error को सही कर सके बल्कि बेहतर बना सके. आज हम ऐसे ही कुछ …

plot purchase and construction loan की Information हिंदी में

plot purchase and construction loan की Information हिंदी में जहा कुछ Family Ready House खरीदना थोड़ा कम पसंद करते हैं. वही कुछ Family प्लाट को खरीदकर House Construction में विश्वास रखते हैं. ऐसे परिवारों के लिए House Loan में एक प्रोडक्ट हैं “plot purchase and construction loan” इस तरह के Loan के बारे में पूरी Information होना आपके पास जरुरी हैं यदि आप भी प्लाट को खरीदने और उसपे House Construction के बारे में सोच रहे हैं. जानकारिया शुरू करें. लेकिन ध्यान रखे plot purchase and construction loan की Information आधी अधूरी लेना आपके लिए उचित नहीं होगा ऐसा करने से आपका Loan Reject हो सकता हैं अथवा आप परेशान हो सकते हैं.

Plot purchase and construction loan क्या हैं .plot purchase and construction loan एक तरह से 2 जरूरतों को पूरा करने के लिए लिया जाने वाला Loan हैं. जब आप Ready House खरीदने में असमर्थ होते हैं और आपको लगता हैं की मुझे कुछ राशि की आवश्यकता प्लाट खरीदने के लिए हैं और कुछ राशि की आवश्यकता उसी प्लाट पर मकान निर्माण के लिए हैं तो आप plot purchase and construction loan ले सकते है…