सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

HOME LOAN न चुका पाने पर क्या करें इन हिंदी

HOME LOAN न चुका पाने पर क्या करें इन हिंदी 

home loan na chuka pane par kya kare in hindi, home loan na chuka pane par, tips for home loan repayment hindi, how to manage home loan emi hindi, how to manage home loan burden hindi, how to manage home loan india, how to manage home loan in less salary, job chale jane par home loan kaise jama kare in hindi, can we stop home loan emi for few months, can home loan emi be stopped

home loan na chuka pane par kya kare in hindi | how to manage home loan emi hindi - दोस्तों क्या आपके ऊपर home loan burden सहित दूसरे Loan को जमा करने की जवाबदारिया हैं ? क्या इन समस्त प्रकार के Loan की Installment को जमा करने में आपको परेशानिया महसूस हो रही हैं ? तो आपको घबराने की बिलकुल जरुरत नहीं हैं क्योकि इसका Solution है .ऐसी स्थिति में ऐसे तमाम Options हैं जिनसे आपकी Loan को जमा करने की समस्या से छुटकारा मिल सकता. होम Loan की Installment के भुगतान की असमर्थता में सबसे पहले आपको जानना होगा की यदि आप Home Loan ki kisht nahi jama kar paate to kya hota hai.

होम Loan की किश्त नहीं जमा कर पाते तो क्या होता हैं ?

अगर मकान खरीदने के लिए Bank या HFC’s से Home Loan लिया है तो वे आपकी किश्त नहीं आने पर रिकवरी के लिए कई तरह के प्रोसेस को अपना सकते हैं. चुकी Home Loan पूरी तरह से सिक्योर्ड Loan की केटगेरी में आता हैं. अर्थात इस तरह के Loan में आपकी प्रॉपर्टी पर Loan देने वाले Bank या फाइनेंस कम्पनी का मालिकाना बंधन होता है, जब तक कि Home Loan का Amount रिपे नहीं हो जाता तब तक प्रॉपर्टी होम Loan देने वाले के पास बंधक होती हैं.
home loan na chuka pane par kya kare in hindi | how to manage home loan emi hindi - इसके अलावा आपको यह ध्यान रखना चाहिये कि, यदि कोई लगातार तीन महीने यानि 90 दिनों तक Home Loan की किस्त जमा नहीं कर पाटा हैं  तो सरफेसी एक्ट - 2002 के अधिनियमों के तहत Loan देने वाले Bank या हाउसिंग फाइनेंस कम्पनी को बकाया Loan Amount की वसूली करने के लिए मकान की नीलामी Process शुरू करने का सम्पूर्ण अधिकार होता है.

होम Loan की EMI चूकने पर Loan Defaulter होने से Credit Score भी घटता हैं. जिससे जब भी कोई भविष्य में Loan लेने की सोचता हैं उसके लोए Loan लेना मुश्किल हो जाता हैं. लेकिन आज हम बताने वाले हैं की Loan डिफाल्टर बनने से पहले ही कुछ टिप्स को अपनाकर तथा मुश्किल हालात में Home Loan EMI पेमेंट को नियमित करने के क्या option हो सकते हैं ताकि आप न तो Legal Process में फसकर आपकी Property नीलाम न हो और न ही आपका Credit Score Kharab हो जाए.

होम Loan की Installment का नियमित भुगतान इमर्जेंसी फंड से करें

Manage home loan in less salary - कई बार इनकम के नियमित सोर्स में कमी के कारण आपका होम Loan रीपेमेंट गड़बड़ा सकता हैं. ऐसा सभव हैं तब जबकि किसी की Job चली जाए और उसके पास income का कोइ scorce न बचे. ऐसे में कोई होम Loan की किश्त जितना अमाउंट सेविंग अकाउंट में रखकर अथवा फिक्स डिपोजिट जैसे अथवा SIP जैसी इन्वेस्टमेंट के आधार पर अपना इमरजेंसी फंड तेयार कर सकते हैं. ऐसा फंड आपको तब तेयार करना चाहिये जब आपकी जॉब नियमित चल रही हो तथा अपनी सेलेरी का कम से कम 6 गुना तक का निवेश इसमें करना चाहिये ताकि Job chali janne par home loan ko manage कर सकें.

होम Loan के साथ Home Loan Insurance लें

आज जब भी कोई होम Loan लेने जाता हैं तो Bank या हाउसिंग फाइनेंस कपनी उससे होम Loan के कवर पर बीमे का अनुरोध करती हैं लेकिन ये आपके Loan की रिस्क को कवर करता हैं इसी के साथ आपको छोटी अवधि का HOME LOAN EMI INSURANCE COVER भी ले लेना चाहिये. यह बीमा कवर आपकी जॉब चली जाने पर आपके होम Loan की Installment को नियमित रखने में आपको मदद कर सकता हैं.

लाइफ स्टाइल से जुडी सम्पत्ति बेचकर जुटाए अमाउंट

स्थिति अगर यहाँ तक खराब हो जाए की JOB भी चली गयी हैं कोई Income का Second Scorce भी नहीं बचा हैं साथ ही आपकी जितनी Saving थी वो भी खत्म हो चुकी हैं ऐसे में आपके पास Home Loan को Regular करने के लिए अन्य रास्ते तलाशना आवश्यक हैं इस तलाश को आप अपनी लाइफ स्टाइल से जुडी सम्पत्तियों को बेच कर ख़त्म कर सकते हैं जैसे आपके पास यदि सोना,चांदी, मेनगे गेजेट्स,लग्जरी प्रोडक्ट तथा अन्य चीजो को बेचकर अमाउंट जुटा सकते हैं इससे न केवल आपको Installment को जमा करने में आसानी होगी बल्कि आप इस Fund के Amount से Long Time के लिए Invest करके Future को भी Secure कर सकते हैं. इसके अलावा Home Loan EMI जमा करने  में बहुत ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं और आपको लगता हैं की आपकी इनकम की समस्या लम्बे समय तक चलने वाली हैं तो इन्ही पैसो से आपको होम Loan का पार्ट पेमेंट करके किश्त का अमाउंट घटाने का प्रयास करना चाहिये.

Bank या हाउसिंग फाइनेंस कम्पनी से होम Loan Repayment के विषय में बात करे

इनकम की समस्या यदि सच में गंभीर हैं और आपके पास कही से भी पैसो का अरेंजमेंट होना संभव नहीं हैं तो आपको सीधे होम Loan देने वाली Bank या हाउसिंग फाइनेंस कंपनी को विभिन्न कारणों से अवगत कराकर Installment के भुगतान के लिए कुछ समय मांगने का अनुरोध करना चाहिये . Bank आपके पुराने रिकार्ड को देख सकते हैं और ऐसा कर सकते हैं या आपके रिकार्ड के आधार पर आपको होम Loan नियमित करने का कोई न कोई रास्ता अवश्य बता सकते हैं . वैसे Bank / HFC’s के पास कुछ Options होते हैं जिन्हें हम निचे उल्लेखित कर रहे हैं .

Home loan emi grace period In HINDI

आपके रिकोर्ड के आधार पर Bank आपको कुछ महीनो का ग्रेस पीरियड (stop home loan emi for few months ) दे सकती हैं ताकि आप अपनी तात्कालिक वित्तीय स्थिति को संभाल कर फिर से होम Loan को नियमित जमा कर सकते लेकीन यह पूर्णत Bank या वित्तीय कम्पनी पर निर्भर करता हैं .

Home Loan refinance in Hindi

यदि आपका पुराना रिकार्ड सही हैं तो Bank आपको Home Loan refinance Option भी दे सकती हैं जिसमे आपको आपके बचे हुए Loan पर फिर से EMI निर्धारित करके दी जा सकती हैं साथ ही Bank चाहे तो आपको कुछ और पैसा भी दे सकती हैं .

home loan restructuring in Hindi

खराब वित्तीय स्थिति को देखते हुए Bank आपके होम Loan के रीपेमेंट रिकोर्ड तथा आपकी उम्र तथा अन्य मापडंडो के आधार पर home loan restructuring करके आपकी Home Loan ki kisht ko kam karke भुगतान की समयअवधि बढ़ा सकती हैं .

Reset home loan interest

Bank अपनी शर्तो के साथ वर्तमान होम Loan को कम ब्याज पर ला सकता हैं यह ब्याज दर पब्लिश्ड रेट ग्रिड के आधार पर नॉन डिस्क्रिमनेटरी रेट ऑफर के तहत Bank ऐसा कर सकते हैं .

तो ये थे कुछ ऐसे टिप्स जिसके आधार पर आप home loan na chuka pane par इन टिप्स को अपनाकर अपने Home Loan ko Reguler बनाए रख सकते हैं साथ ही नीलामी या Poor credit Score से बच सकते हैं . उम्मीद हैं आपको अपने home loan irregular को regular home loan karne ke कुछ महत्वपूर्ण ऑप्शन मिले होंगे आप इनका अनुसरण कर सकते हैं लेकिन ध्यान रखे Bank से खराब होम Loan रीपेमेंट के विषय में  बात करते समय ध्यान रखे की ये पूर्णतया आपके पुराने रिकार्ड और Bank की अपनी संस्थागत पालिसी पर निर्भर करता हैं धन्यवाद .

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Credit Report में Closed, Settled और WO Flag क्या है

Credit Report में क्लोज,सेटल्ड और राईटऑफ फ्लेग क्या हैं 

Credit Report में Closed, Settled और WO Flag क्या हैं – अच्छा Credit Score आपको न केवल आसानी से Loan दिलाने में मदद करता हैं . CIBIL, HIGHMARK तथा इक्युफेक्स जैसी Credit Rating कम्पनिया आपके Loan की समस्त जानकारिया Bank और फाइनेंस कम्पनियों से प्राप्त करके आपके Credit Score का निर्धारण करती हैं. सामान्यत: यह स्कोर 750 से ज्यादा होने पे आपको Loan मिलने में आसानी हो जाती हैं और इससे खराब स्कोर पर Loan लेने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता हैं.

लेकिन आपकी Credit Report को लेकर तथा इसके अच्छे और बुरे स्कोर को लेकर कही ज्यादा जरुरी हैं इस रिपोर्ट को सही तरीके से समझना. Credit Report के सभी पक्ष और सेक्शन को समझना आपके लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं क्योकि इन सेक्शन को समझकार आप बारीकी से आपके Credit Score को Improve सकते हैं साथ ही एक Good Credit Score बनाए रख सकते हैं.


Credit Report में अकाउंट सेक्शन क्या हैं Credit Report में सबसे महत्वपूर्ण सेक्शन होता हैं “अकाउंट सेक्शन” इस सेक्शन के अंतर्गत आपके द्वारा लिए गए क्रेडिट कार्ड,Ban…

Credit Report की Mistake कैसे सुधारें | How to Correct Credit Report Error in HINDI

Credit Report की Mistake कैसे सुधारें | How to Correct Credit Report Error in HINDI
How to Correct Credit Report Error in HINDI – लखनऊ निवासी नीरज ने कुछ दिनों पूर्व Home Loan के लिए एक हाउसिंग Finance Company में Home Loan Apply किया था. लेकिन उनकी Loan एप्लीकेशन ये कह के रिजेक्ट कर दी गयी की उनका Credit Score कम हैं. जब CIBIL की वेबसाईट से विस्तृत क्रेडिट की report मंगवाया तो उन्हें पता चला की उनका Credit Score पिछले कई महीनो से खराब चल रहा हैं. ऐसा इसलिए क्योकि उनकी रिपोर्ट में Credit Report Error था. इसका मतलब ये हैं की उन्होंने जो Loan नहीं लिया था वो Loan उसमे न केवल रिफ्लेक्ट हो रहा हैं बल्कि उसके Irregular Payment का असर नीरज के Credit Score पर भी लगातार पड रहा हैं.

How to Correct Credit Report Error in HINDI -आप जानते हैं नीरज की Credit Report में जो Credit Report Error आया हैं वो किसी के भी Credit Score में आ सकता हैं . बहुत important हैं की Time-Time पर अपना score जांच करते रहना. ताकि न केवल आप समय रहते Credit Report Error को सही कर सके बल्कि बेहतर बना सके. आज हम ऐसे ही कुछ …

plot purchase and construction loan की Information हिंदी में

plot purchase and construction loan की Information हिंदी में जहा कुछ Family Ready House खरीदना थोड़ा कम पसंद करते हैं. वही कुछ Family प्लाट को खरीदकर House Construction में विश्वास रखते हैं. ऐसे परिवारों के लिए House Loan में एक प्रोडक्ट हैं “plot purchase and construction loan” इस तरह के Loan के बारे में पूरी Information होना आपके पास जरुरी हैं यदि आप भी प्लाट को खरीदने और उसपे House Construction के बारे में सोच रहे हैं. जानकारिया शुरू करें. लेकिन ध्यान रखे plot purchase and construction loan की Information आधी अधूरी लेना आपके लिए उचित नहीं होगा ऐसा करने से आपका Loan Reject हो सकता हैं अथवा आप परेशान हो सकते हैं.

Plot purchase and construction loan क्या हैं .plot purchase and construction loan एक तरह से 2 जरूरतों को पूरा करने के लिए लिया जाने वाला Loan हैं. जब आप Ready House खरीदने में असमर्थ होते हैं और आपको लगता हैं की मुझे कुछ राशि की आवश्यकता प्लाट खरीदने के लिए हैं और कुछ राशि की आवश्यकता उसी प्लाट पर मकान निर्माण के लिए हैं तो आप plot purchase and construction loan ले सकते है…