सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

LOAN LENE KE NAYE NIYAM | NEW RULE FOR TAKING LOANS IN HINDI 2020

LOAN LENE KE NAYE NIYAM | NEW RULE FOR TAKING LOANS IN HINDI 2020

LOAN LENE KE NAYE NIYAM,NEW RULE FOR TAKING LOANS IN HINDI 2020,loan lene ke niyam, bank se loan lene ke niyam, home loan lene ke niyam, mudra loan lene ke niyam, personal loan lene ke niyam


LOAN LENE KE NAYE NIYAM | NEW RULE FOR TAKING LOANS IN HINDI 2020 - विगत वर्ष तक Private employees को उनके कार्यालय में जाकर Loan देने वाले Bank अब सख्त Loan Lene ke naye niyam बना रहे हैं. अब तक Private employees को उनकी वेतन स्लिप और Bank खाते के स्टेटमेंट को देकर Asani se Loan मिल जाता था, किन्तु अब Job करने वालो को जहा वे काम करते हैं यानि company से एक Promissory note साइन करवा कर देना पड़ेगा. इसके विपरीत और भी कई ऐसे Loan lene ke naye niyam बनाए जा रहे हैं जो Private employees के लिए Loan को लेना काफी कठिन बना सकता हैं.

HR Promissory Note पर ही मिलेगा LOAN

अब Employer को Promissory Note में लिखकर देना होगा कि यदि Loan लेने वाला Job से चला गया तो उसके Salary full & final settlement से पूर्व उसके Job छोड़ने की information Bank को उपलब्ध कराना होगी. यदि Loan लेने वाले को कही और नई Job मिल रही है, तो उसे कहां Job मिल रही है यह information भी Bank अपने पास रखेगा. यदि उसे लम्बे समय तक किसी Job मिलने की कोई स्थिति न नजर आये तो Bank उसके Loan की वसूली के लिए उसकी दूसरी प्रॉपर्टी की information भी लेंगे.

पहले यह थे Loan Lene Ke Niyam

एक और Job करने वालों अपनी company की सामान्य Information के साथ वेतन स्लिप ही Loan लेते समय महत्वपूर्ण दस्तावेज मान लिया जाता था तथा दूसरी और किसी भी तरह की Job बदलने की Information आवश्यक नहीं थी और न ही किसी तरह की HR ग्यारंटी की आवश्यकता थी. इसी के साथ यदि कोई बिजनेस में होता था तो तीन साल के CA द्वारा सत्यापित इनकम टैक्स रिटर्न के आधार पर Loan आसानी से  मिल जाता था.

अब Loan Lene Ke Naye Niyam क्या होंगे

Bank Loan लेने के नियमो  को सख्त करके वेतन स्लिप को एम्प्लायर से वेरीफाई करेगी जिससे की सेलेरी की सही Information Bank को स्पष्ट हो पाए. Loan Application करने वाले सेलेरी का क्रोस वेरिफिकेशन Bank स्टेटमेंट से किया जाएगा की उसके द्वारा बताई गयी सेलेरी Bank में प्रतिमाह आ रही हैं या नहीं. इन वेरिफिकेशनस के साथ ही साथ Employer को Promissory Note देना होगा की Loan के लिए आवेदन  करने वाला उनके यहाँ Job करता हैं. इस प्रमाण पत्र में एम्प्लायर यह वचन देगा की Loan लेने वाला जब भी Job छोड़ेगा उसकी Information वह Bank को उपलब्ध कराएगा और साथ ही उसकी सेलेरी का बचा हुआ Salary Settlement Bank को बताये बगेर नहीं करेगा. इसके अलावा Bank अब अन्य व्यक्ति की ग्यारंटी Loan लेने के लिए नहीं मांगेगा.

Business Loan Len Ke Liye Niyam नए बनाए जा रहें हैं

बिजनेस करने वालो को जहा पहले Loan लेने के  लिए सिर्फ इनकम टेक्स रीटर्न के साथ बेलेंसशीट के साथ बिजनेस से जुड़े कोटेशन देने पड़ते थे जो की सिर्फ कागजी खानापूर्ति होती थी. इसी के साथ Business Loan Process को सख्त करते हुए Bank अब दी गयी इनकम की Information को बिजनेस करने वाले के Bank खाते से भी क्रोस चेक करेगा.इसके अलावा verification कोटेशन का भी होगा की इतना खर्चा Business के लिए आयेगा या नहीं.

नए Loan ke Niyam का असर

वर्तमान वित्तीय स्थिति को ध्यान में रखकर जानकार मान रहे हैं की भारतीय इकोनोमी को वित्तीय सपोर्ट की आवश्यकता हैं, ऐसे में यदि Bank Loan Lene Ke Niyam सकत करती हैं तो लोगो को Loan मिलना मुश्किल होगा जरुरी नहीं की सभी गवर्मेंट Job ही करते हों. Bank को सकती की बजाये Loan लेने की प्रक्रिया और Loan लेने के नियम  को सरल बनाना चाहिये.

Loan लेने के नए नियम से Interest दर सस्ती होगी

वैसे सच्चाई देखि जाए तो Bank Loan के नियम  पहले भी सख्त थे लेकिन Bank को ज्यादा फायदा पहुचाने के चक्कर में Bank Officer ज्यादा Interest देकर Loan सेंशन कर दिया करते थे.अब तेजी से Loan डिफाल्टर बढ़ने पर Loan लेने के नियमो का गंभीरता से पालान कर रहे हैं तथा Loan लेने वाले के एप्लोयर द्वारा दी गए वचन पत्र के बाद ऐसा माना जा सकता हैं अब Loan पर Interest दर में कमी आएगी और कम Interest पर Loan मिल सकेगा.

Loan देने के नियमो को तोड़ने पर Officers पर Action

हाल ही में विभिन्न Bank के ऑडिट में ये सामने आया हैं की Bank Officer कार्पोरेट Loan के साथ ही साथ रिटेल Loan देने में भी नियमो  का पालन नहीं करते थे जिसका खामियाजा Bank को NPA के रूप में भुगतना पड़ता था. लेकिन अब Bank Loan के नए नियमो  में Loan Sanction करने वाले Officer की जिम्मेदारी तय की जाएगी और स्वीकृति के नियमो के विरुद्ध यदि Loan होता हैं तो Officer पर कार्यवाही हो सकती .

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Credit Report में Closed, Settled और WO Flag क्या है

Credit Report में क्लोज,सेटल्ड और राईटऑफ फ्लेग क्या हैं 

Credit Report में Closed, Settled और WO Flag क्या हैं – अच्छा Credit Score आपको न केवल आसानी से Loan दिलाने में मदद करता हैं . CIBIL, HIGHMARK तथा इक्युफेक्स जैसी Credit Rating कम्पनिया आपके Loan की समस्त जानकारिया Bank और फाइनेंस कम्पनियों से प्राप्त करके आपके Credit Score का निर्धारण करती हैं. सामान्यत: यह स्कोर 750 से ज्यादा होने पे आपको Loan मिलने में आसानी हो जाती हैं और इससे खराब स्कोर पर Loan लेने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता हैं.

लेकिन आपकी Credit Report को लेकर तथा इसके अच्छे और बुरे स्कोर को लेकर कही ज्यादा जरुरी हैं इस रिपोर्ट को सही तरीके से समझना. Credit Report के सभी पक्ष और सेक्शन को समझना आपके लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं क्योकि इन सेक्शन को समझकार आप बारीकी से आपके Credit Score को Improve सकते हैं साथ ही एक Good Credit Score बनाए रख सकते हैं.


Credit Report में अकाउंट सेक्शन क्या हैं Credit Report में सबसे महत्वपूर्ण सेक्शन होता हैं “अकाउंट सेक्शन” इस सेक्शन के अंतर्गत आपके द्वारा लिए गए क्रेडिट कार्ड,Ban…

Credit Report की Mistake कैसे सुधारें | How to Correct Credit Report Error in HINDI

Credit Report की Mistake कैसे सुधारें | How to Correct Credit Report Error in HINDI
How to Correct Credit Report Error in HINDI – लखनऊ निवासी नीरज ने कुछ दिनों पूर्व Home Loan के लिए एक हाउसिंग Finance Company में Home Loan Apply किया था. लेकिन उनकी Loan एप्लीकेशन ये कह के रिजेक्ट कर दी गयी की उनका Credit Score कम हैं. जब CIBIL की वेबसाईट से विस्तृत क्रेडिट की report मंगवाया तो उन्हें पता चला की उनका Credit Score पिछले कई महीनो से खराब चल रहा हैं. ऐसा इसलिए क्योकि उनकी रिपोर्ट में Credit Report Error था. इसका मतलब ये हैं की उन्होंने जो Loan नहीं लिया था वो Loan उसमे न केवल रिफ्लेक्ट हो रहा हैं बल्कि उसके Irregular Payment का असर नीरज के Credit Score पर भी लगातार पड रहा हैं.

How to Correct Credit Report Error in HINDI -आप जानते हैं नीरज की Credit Report में जो Credit Report Error आया हैं वो किसी के भी Credit Score में आ सकता हैं . बहुत important हैं की Time-Time पर अपना score जांच करते रहना. ताकि न केवल आप समय रहते Credit Report Error को सही कर सके बल्कि बेहतर बना सके. आज हम ऐसे ही कुछ …

plot purchase and construction loan की Information हिंदी में

plot purchase and construction loan की Information हिंदी में जहा कुछ Family Ready House खरीदना थोड़ा कम पसंद करते हैं. वही कुछ Family प्लाट को खरीदकर House Construction में विश्वास रखते हैं. ऐसे परिवारों के लिए House Loan में एक प्रोडक्ट हैं “plot purchase and construction loan” इस तरह के Loan के बारे में पूरी Information होना आपके पास जरुरी हैं यदि आप भी प्लाट को खरीदने और उसपे House Construction के बारे में सोच रहे हैं. जानकारिया शुरू करें. लेकिन ध्यान रखे plot purchase and construction loan की Information आधी अधूरी लेना आपके लिए उचित नहीं होगा ऐसा करने से आपका Loan Reject हो सकता हैं अथवा आप परेशान हो सकते हैं.

Plot purchase and construction loan क्या हैं .plot purchase and construction loan एक तरह से 2 जरूरतों को पूरा करने के लिए लिया जाने वाला Loan हैं. जब आप Ready House खरीदने में असमर्थ होते हैं और आपको लगता हैं की मुझे कुछ राशि की आवश्यकता प्लाट खरीदने के लिए हैं और कुछ राशि की आवश्यकता उसी प्लाट पर मकान निर्माण के लिए हैं तो आप plot purchase and construction loan ले सकते है…